DM दीपक रावत ने हल्द्वानी कैंप दफ्तर में रेलवे व राजस्व अधिकारियों के साथ बैठक की

नैनीताल के जिलाधिकारी दीपक रावत ने कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में रेलवे व राजस्व अधिकारियों की बैठक ली. रेलवे अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि एक दौर की पैमाईश की जा चुकी है. डीएम दीपक रावत ने कहा कि पूर्ण पैमाईश कराने के लिए भूमि किसके अन्तर्गत आती है के तह तक जाने के लिए रेलवे का गजट नोटिफिकेशन अनिवार्य है. उन्होंने रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे शीघ्र पुराने नक्शे के साथ गजट नोटिफिकेशन प्रस्तुत करें.

गौरतलब है कि सन् 1882 में रेल काठगोदाम तक आ गयी थी. मगर रेलवे अधिकारी पुराना नक्शा व नोटिफिकेशन नहीं दिखा पा रहे हैं. जिससे रेलवे व नजूल आदि भूमि को चिन्हित करने में समस्या उत्पन्न हो रही है. कोर्ट ने रेलवे महकमे को निर्देश हैं कि 10 हफ्ते में रेलवे स्टेशन हल्द्वानी से गौजाजाली तक रेलवे भूमि की पेमाईश कर कोर्ट को पेमाईश की सूची उपलब्ध कराएं.

इस हेतु प्रशासन द्वारा भूमि पेमाईश हेतु रेलवे महकमे को सहायता करने के निर्देश भी दिए गए थे. बताते चले कि रेलवे की हल्द्वानी से गौजाजाली तक लगभग 29 एकड भूमि की पेमाईश की जानी है. 17 नवम्बर को रेलवे स्टेशन हल्द्वानी से पेमाइश प्रारम्भ की गयी थी. मगर नक्शा आदि सुस्पष्ट न होने के कारण रोकनी पड़ी.

डीएम रावत ने कहा कि रेलवे अधिकारी पुराना नक्शे के साथ ही नोटिफिकेशन प्रस्तुत करें, इसी के साथ डीएम ने राजस्व अधिकारी को भी अभिलेखागार से पुराना नक्शा निकलवाने को कहा, ताकि रेलवे नक्शे व राजस्व नक्शे का मिलान कर रेलवे गजट नोटिफिकेशन के अनुसार भूमि चिन्हित कर पैमाईश की जा सके. पेमाईश हेतु रेलवे को सभी प्रकार का सहयोग जिला प्रशासन द्वारा मुहैया कराया जाएगी.

बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी, नगर आयुक्त केके मिश्रा, उप जिलाधिकारी एपी वाजपेई, मंडल इंजीनियर अरूण कुमार, सीनियर सैक्शन इंजीनियर एनके पाण्डे, पटवारी मनोज जोशी आदि उपस्थित थे.