भारतीय महिलाओं ने फाइनल में पाकिस्तान को पीटा, क्रिकेट एशिया कप पर कब्जा

बैंकॉक।… भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने रविवार को एशियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ग्राउंड पर खेले गए फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को 17 रनों से हराकर लगातार दूसरी बार एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) महिला टी-20 एशिया कप खिताब पर कब्जा जमा लिया है. इससे पहले, भारत ने 2012 में चीन के ग्वांगझू में हुए इस टूर्नामेंट के बीते संस्करण के फाइनल में पाकिस्तान को ही 19 रनों से मात देकर खिताबी जीत हासिल की थी.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने मिताली राज (नाबाद 73) की शानदार अर्धशतकीय पारी की बदौलत पाकिस्तान के सामने 122 रनों का लक्ष्य रखा, जिसे पाकिस्तानी महिलाएं निर्धारित ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर भी हासिल नहीं कर पाई और 17 रनों से हार गई. पाकिस्तानी टीम 104 रन ही बना सकी.

भारत के लिए मिताली के अलावा, झूलन गोस्वामी ने 17 रनों का अहम योगदान दिया. इस पारी में पाकिस्तान के लिए अनम अमीन ने दो, जबकि सना मीर और सादिया यूसुफ ने एक-एक सफलता हासिल की.

पाकिस्तान के लिए कप्तान बिस्माह मरूफ (25) और जावेरिया खान (22) ने सबसे अधिक रन बनाए. हालांकि, इसके बावजूद भी टीम भारतीय गेंदबाजों के आगे टिक नहीं पाई और निर्धारित ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 104 रन ही बना सकी.

भारत के लिए एकता बिष्ट ने सबसे अधिक दो विकेट चटकाए, जबकि अनुजा पाटिल, झूलन, शिखा पांडे और प्रीति बोस को एक-एक सफलता हासिल हुई.

गौरतलब है कि 2004 से शुरू हुए इस टूर्नामेंट पर भारत ने ही हर बार खिताबी जीत हासिल की है. 2004, 2005, 2006, 2008 में टीम ने श्रीलंका को मात देकर यह खिताब जीता था.

यह टूर्नामेंट में 2004 से 2008 तक 50 ओवरों के फॉर्मेट में खेला गया था, लेकिन 2012 के बाद इसे टी-20 फॉरमेट में बदल दिया गया.