उत्तराखंड की सेहत सुधारने को मोदी सरकार ने दी 800 करोड़ के प्रोजेक्ट को मंजूरी

उत्तराखंड की स्वास्थ्य व्यवस्था सुधारने के लिए 800 करोड़ के उत्तराखंड हेल्थ सिस्टम डेवलपमेंट प्रोजेक्ट फेज-2 को केंद्र सरकार ने स्वीकृति दे दी है. विश्व बैंक इसके लिए धन मुहैया कराएगा. यह प्रोजेक्ट छह साल का है.

इसके तहत अस्पतालों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अपडेट किया जाएगा. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की फंडिंग भी इसी प्रोजेक्ट से की जाएगी.

उत्तराखंड हेल्थ सिस्टम डवलपमेंट प्रोजेक्ट के संबंध में हाल में ही दिल्ली में बैठक हुई. इसमें केंद्र सरकार, विश्व बैंक के अफसरों के साथ उत्तराखंड के अपर सचिव स्वास्थ्य डॉ. नीरज खैरवाल की अगुवाई में महानिदेशक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा डॉ. कुसुम नरियाल, अपर महानिदेशख डॉ. प्रेमलाल और संयुक्त निदेशक डॉ. मनु जैन ने शिरकत की थी।

इसमें विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श के बाद प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई है. इसमें 25 फीसदी शेयर राज्य सरकार का भी रहेगा. इसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को पीपीपी मोड से संचालित किए जाने का भी प्रावधान है. इस प्रोजेक्ट से टिहरी और खटीमा के दो-दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अपडेट किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का भी एक मद प्रोजेक्ट में रखा गया है. इसके साथ ही प्रदेश के जिला अस्पतालों का इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत किया जाएगा. उपकरणों की व्यवस्था की जाएगी. राज्य में इसके पहले प्रोजेक्ट का फेज-1 चला था, लेकिन साल 2010 में इसकी अवधि समाप्त हो गई थी.