सरकार ने दिया था बंगला, किराए के लिए पैसे नहीं हैं; मुझे जेल में डाल दो : कोश्यारी

नैनीताल स्थित उत्तराखंड हाईकोर्ट के सरकारी बंगलों पर कब्जा जमाए बैठे पूर्व मुख्यमंत्रियों से उसका किराया वसूलने की बात कही है. इससे पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी बेहद खफा हैं. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि सरकार ने बाकायदा शासनेश जारी कर उन्हें आवास की सुविधा दी. अब यदि उनसे किराया मांगा जाएगा तो वह देने में सक्षम नहीं हैं.

सरकारी बंगले खाली करने के हाईकोर्ट के निर्देश पर पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी अपना बंगला छोड़ चुके हैं. उन पर राज्य सरकार ने करीब दो लाख रुपये बकाया दिखाया है. इस किराए को लेकर हाईकोर्ट ने भी पूर्व मुख्यमंत्रियों से जवाब मांगा था.

नैनीताल छावनी परिषद के कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि उनके पास किराए के पैसे नहीं हैं. ऐसे में उन्हें जेल में डाल दिया जाए. उन्होंने राज्य सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उत्तराखंड में सत्ता परिवर्तन तय है.

उन्होंने कहा कि इस बार उत्तराखंड में बीजेपी मोदी के चेहरे पर विधानसभा चुनाव में उतरेगी. कार्यक्रम में कोश्यारी ने पूर्व ओलंपियन राजेंद्र रावत सहित एक दर्जन लोगों को सम्मानित किया. साथ ही प्राथमिक स्कूल छावनी परिषद के बच्चों को भी सम्मानित किया.

इस मौके पर नैनीताल विधायक सरिता आर्य, ब्रिगेडियर अतेश चहर, सीईओ अभिषेक राठौर, ज्योति कपूर, उपाध्यक्ष बहादुर रौतेला, सदस्य तुलसी बिष्ट, अधीक्षक दिवान सिंह मेहता, बीजेपी जिलाध्यक्ष मनोज साह, आदि मौजूद थे.