केजरीवाल की AAP का आरोप, ‘बीजेपी ने नोटबंदी से पहले खरीदी जमीनें’

सांकेतिक चित्र

आम आदमी पार्टी (आप) ने बुधवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने गत आठ नवम्बर को केंद्र सरकार की नोटबंदी की घोषणा से पहले जमीनें खरीदी थी. यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आप के एक वरिष्ठ नेता आशीष खेतान ने कहा, ‘बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने सभी प्रादेशिक इकाइयों को आठ नवम्बर से पहले जमीनें खरीदने को कहा था.’

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने तीन राज्यों (बिहार, राजस्थान और ओडिशा) में जमीन खरीदी थीं और अमित शाह ने सौदे को अधिकृत किया था. खेतान ने कहा, ‘अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निष्पक्ष होना चाहते थे तो उन्होंने अपने सांसदों से गत आठ नवम्बर से पहले के उनके हस्तान्तरणों की विस्तृत जानकारी क्यों नहीं मांगी.’

आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढ़ा ने कहा, ‘मीडिया रपटों के अनुसार, यह स्पष्ट है कि बीजेपी ने अपने कालेधन को सफेद किया था, क्योंकि जुलाई, अगस्त और सितम्बर महीने में भारी राशियां बैंक खातों में जमा कराई गई थीं.’

उन्होंने कहा कि आप के पास इन संपत्तियों की खरीद के दौरान किए गए हस्तान्तरणों के दस्तावेज हैं. प्रवक्ता ने कहा, ‘जमीन खरीदने के दौरान दो करोड़ रुपये के सौदे हुए थे.’ उन्होंने आगे कहा कि गत 19 सितम्बर को किशनगंज में और पांच अक्टूबर को पश्चिमी चंपारण में जमीनें खरीदी गई थीं. चड्ढ़ा ने कहा कि भुगतान नकदी और चेक में किए गए थे.