चिड़ियाघर में शेर के बाड़े में कूदा युवक, फिर भी बच गई जान

पुणे के राजीव गांधी चिड़िया घर में शनिवार को एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. जिसमे एक 24 वर्ष के युवक (शुधोधन वानखेड़) ने सफेद शेर (कैफ) के पिंजरे में कूदकर सबको चौका दिया और खड़े होकर सफेद शेर को लगातार देखता रहा. आसपास खड़े सभी लोगों को तब आश्चर्य हुआ और चिंतित थे कि अब आगे क्या होगा.

हलाकि चिड़ियाघर के सिक्योरिटी गार्ड को बुलाया गया लेकिन इसके पहले ही ये युवक शेर के पास चलता हुआ गया और शेर को हाथ लगाया. इसी समय सिक्योरिटी भी वहां पहुंचे और सभी लोगो को शांत कराया गया. सिक्योरिटी गार्ड ने पिंजरे में घुसकर युवक को सही सलामत पिंजरे के बाहर निकाला.

राजीव गांधी चिड़ियाघर के सुपरिटेंडेंट राजकुमार जाधव ने बताया कि एक युवक सफेद शेर के पिंजरे में गया था. इससे पहले इस युवक ने बंगाल टाइगर के एन्क्लोज़र में जाने की कोशिश की थी. जब सिक्योरिटी ने उसे टोका तो वो युवक सफेद शेर के पिंजरे में पीछे से कूद गया और शेर के पास जाकर उसे हाथ भी लगाया. सही समय पर चिड़ियाघर के नाइट हाउस गेट से अंदर जाकर एनिमल कीपर और सिक्योरिटी गार्ड ने उसे रेस्क्यू किया. सुपरिटेंडेंट के मुताबिक ये युवक मानसिक बीमार लग रहा था. उससे जब सुपरिटेंडेंट ने बात की तो युवक ने उनसे बिल्कुल बात नहीं की. नाइट हाउस का दरवाजा खोलकर उसे सही सलामत बहार निकाला गया.

शुधोधन वानखेड़ को भारतीविद्यापीठ पुलिस स्टेशन के हवाले कर दिया गया. जहां इस शख्स के खिलाफ वन्य जीव सौरक्षण कानून, सेक्शन 38 जे के मुताबिक मामला दर्ज किया गया. इस बात की पुष्टि भारतीविद्यापीठ पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर पवार मैडम ने आज तक से फोन पर बातचीत करते हुए की है. शुधोधन वानखेड़ दसवीं तक पढ़ा है और पुणे के चाकन इलाके में नौकरी करता है.

इससे पहले भी देशभर में हुईं ऐसी कई घटनाएं :-

2000 में पुणे के पेशवे पार्क में सुपर नाम के सफ़ेद शेर के पिंजरे में एक मानसिक रुग्ण ने छलांग लगाई थी लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका था. 2014 के मार्च महीने में एक इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्र ने मध्य प्रदेश में ग्वालियर शहर के प्राणिसंग्रालय में शेर के पिंजरे में छलांग लगाई थी और कापी देर तक शेर को चुनौती देता रहा थी. बाद में युवक को सही सलामत पिंजरे से बाहर निकाला गया. 2014 में सितंबर के महीने में दिल्ली का किस्सा सबको याद होगा. जब एक शख्स ने शेर के पिंजरे में छलांग लगाई थी. जब शेर उस शख्स को अपने मुंह में पकड़कर अपने पिंजरे की ओर ले जाने लगा था तो उस वक़्त उस इंसान को दांतों से दबोचने की वजह से गंभीर चोटे आई थी और युवक की मौत हो गयी थी.