केजरीवाल ने नोटबंदी को बताया फ्लॉप, बोले- 10 साल पीछे हो गया देश

नोटबंदी को लेकर बुलाया गया भारत बंद दिल्ली-एनसीआर में बेअसर साबित हुआ है. अपने ही पैसों के लिए तमाम दिक्कतों का सामना करने के बावजूद भी आम लोगों ने मोदी सरकार के इस फैसले समर्थन किया है. इधर नोटबंदी को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है. केजरीवाल ने अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि नोटबंदी के बाद देश में कालाधन 10 फीसदी तक बढ़ गया है.

नोटबंदी को लेकर की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल के साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी दिखे. केजरीवाल ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि जमीन कैश में बिक रही है और नोटबंदी से पहले बीजेपी ने बड़े स्तर पर जमीनों की खरीद-फरोख्त की है. जाली नोट पर केजरीवाल ने कहा कि नोटबंदी के बाद जाली नोट बंद नहीं हुए हैं और असली नोट की जगह जाली नोट तेजी से छप रहे हैं. उन्होंने बाजार में दो हजार का नकली नोट चलने की भी बात कही.

नोटबंदी को लेकर की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा. केजरीवाल ने कहा कि नोटबंदी का फैसला लेकर पीएम मोदी ने बीस दिन में देश को दस साल पीछे धकेल दिया है. उन्होंने कहा केंद्र सरकार का यह फैसला पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुआ है और मोदी जी को नोटबंदी का फैसला तुरंत वापस लेना चाहिए. केजरीवाल ने सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर बैंक से अपने पैसे निकालने की छूट कब मिलेगी.

केजरीवाल ने यह आरोप भी लगाया कि वीके शुंगलू ने डीपीएस सोसायटी में घपला किया है. जब इस बारे में शिकायत की गई तो एलजी नजीब जंग उन्हें बचाने में जुट गए. केजरीवाल ने कहा अब शुंगलू जी अपना फर्ज निभा रहे हैं और उन्होंने अपनी रिपोर्ट में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को फंसाने की कोशिश की है.

गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं है जब नोटबंदी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी सरकार पर निशाना साधा हो. इससे पहले भी केजरीवाल नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी और बीजेपी पर निशाना साधते रहे हैं.

पीएम मोदी पर तीखा प्रहार करते हुए केजरीवाल ने कहा था कि विमुद्रीकरण स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ा घोटाला है. उन्होंने नोटबंदी की तुलना आपातकाल से भी की थी. केजरीवाल यह आरोप भी लगा चुके हैं कि कालाधन बाजार में फिर बड़ी मात्रा में आ गया है और कुछ लोगों को घर तक नोट पहुंचाए जा रहे हैं. केजरीवाल ने यह भी कहा था कि सरकार को नोटबंदी का फैसला वापस लेना चाहिए, नहीं तो बगावत होगी.