उत्तराखंड सरकार ने IFS अधिकारी संजीव चतुर्वेदी को दिल्ली में किया तैनात

भारतीय वन सेवा (IFS) के अधिकारी संजीव चतुर्वेदी को उत्तराखंड सरकार ने दिल्ली में तैनात किया है. केंद्र ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ओएसडी के तौर पर उनकी नियुक्त को मंजूरी नहीं दी थी.

चतुर्वेदी उत्तराखंड कैडर के भारतीय वन सेवा (आईएफएस) के 2002 बैच के अधिकारी हैं और पिछले तीन महीने से ज्यादा वक्त से वह तैनाती का इंतजार कर रहे थे.

राज्य सरकार की ओर से जारी किए गए औपचारिक आदेश में कहा गया है कि उन्हें उत्तराखंड स्थानीय आयुक्त के दफ्तर में विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) के तौर पर नियुक्त किया गया है और राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) से संबंधित काम दिया गया है.

अधिकारी का केंद्र के साथ टकराव था और उन्हें सेवा से संबंधित लाभ कथित तौर पर देने से इनकार करने के केंद्र के कुछ फैसलों के खिलाफ वह अदालत भी चले गए थे. उन्हें हाल में पदोन्नति देकर वन संरक्षक बनाया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि चतुर्वेदी की नियुक्त इस लिहाज से अहम है कि एनजीटी में उत्तराखंड में पर्यावरण नियमों के कथित उल्लंघन के कम से कम 180 मामले लंबित हैं. उत्तराखंड का 70 फीसदी हिस्सा वन क्षेत्र है.

वह दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में जून 2012 से जून 2016 तक मुख्य सतर्कता अधिकारी और फिर उप सचिव के तौर पर काम कर चुके हैं. पिछले साल उन्होंने दिल्ली सरकार में अंतर कैडर प्रतिनियुक्ति की मांग की थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली कैबिनेट की नियुक्ति मामलों की समिति ने चतुर्वेदी का उत्तराखंड कैडर से अंतर कैडर प्रतिनियुक्ति (दिल्ली के मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी के तौर पर नियुक्त) के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था.

वह उत्तराखंड सरकार में बिना पद के काम कर रहे हैं.