पाक सेना प्रमुख और प्रधानमंत्री ने कहा, भारत को ‘सबक’ सिखा सकते हैं

इस्लामाबाद।… पाकिस्तान ने गुरुवार को भारत के खिलाफ दोषारोपण तेज कर दिया. रिटायर होने जा रहे सेना प्रमुख राहील शरीफ सहित सेना के अन्य अंगों के प्रमुखों ने धमकी दी कि यदि सीमा पर तनाव बढ़ा तो उसकी सशस्त्र सेनाएं भारत को सबक सिखाने में समर्थ हैं।

सेना की मीडिया शाखा इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स (आईएसपीआर) के बयान के अनुसार, अपनी सेवानिवृत्ति के मात्र एक दिन पहले जनरल शरीफ ने कहा कि भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक करने का एक ड्रामा किया. यदि भारत सर्जिकल स्ट्राइक करेगा तो हमलोग ऐसा सबक सिखाएंगे कि उसे भारतीय सेना के पाठ्यक्रम में पढ़ाया जाएगा.

सेना प्रमुख की ये टिप्पणियां ऐसे समय में आई हैं जब वह विदाई दौरे पर हैं. उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब एक दिन पहले पाकिस्तान की ओर से दावा किया गया कि नियंत्रण रेखा पर भारतीय गोलीबारी में तीन सैनिकों सहित उसके 13 लोगों की मौत हुई है.

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने नियंत्रण रेखा पर हालात की समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय बैठक भी की. पाकिस्तान के वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल सोहेल अमान और नौसेना प्रमुख एडमिरल जकाउल्ला ने भी भारत पर शाब्दिक हमला बोला.

प्रधानमंत्री आवास से जारी बयान में कहा गया है, ‘पाकिस्तान ने भारत के आक्रामक व्यवहार के प्रति काफी संयम दिखाया है और वह भारत द्वारा अपने नागरिकों और एंबुलेंसों को निशाना बनाए जाने को हरगिज बर्दास्त नहीं करेगा.’

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, शरीफ ने कहा, ‘हम निर्दोष नागरिकों, खासतौर पर बच्चों और महिलाओं, एंबुलेंसों और नागरिक परिवहन को जान बूझकर निशाना बनाए जाने को बर्दास्त नहीं कर सकते.’ शरीफ ने कहा, ‘पाकिस्तान ने भारत की ओर से लगातार हो रहे संघर्ष विराम उल्लंघन के बावजूद अत्यधिक संयम बरता है.’

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से ‘भारत की ओर से जानबूझकर बढ़ाए गए’ दोनों देशों के बीच के तनाव को खत्म करने के लिए अपनी सक्रिय भूमिका निभाने का आह्वान किया.

बयान के मुताबिक, बैठक में यह निष्कर्ष निकाला गया कि भारत कश्मीर में ‘भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा किए जा रहे मानव अधिकारों के गंभीर उल्लंघन, नरसंहार और अत्याचार से’ अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान हटाने की कोशिश कर रहा है.

इस बीच, पाकिस्तान के चीफ ऑफ एयर स्टाफ एयर चीफ मार्शल सोहेल अमान ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तान के सशस्त्र बल ‘भारत को लेकर बिल्कुल भी चिंतित नहीं हैं.’

कराची में अंतरराष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनी और सेमिनार में चीफ ऑफ एयर स्टाफ ने भी भारत से कश्मीर मुद्दे का समाधान करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि उन लोगों (भारत) को सिद्धांत के मुद्दे पर बोलना चाहिए. इसके बाद हमारे संबंध सुधरेंगे.

इस बीच नौसेना प्रमुख एडमिरल जकाउल्ला भी अन्य दो सेना प्रमुखों के साथ शामिल हो गए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी नौसेना ने भारत को जो जवाब दिया (कथित रूप से भारतीय पनडुब्बी का पिछले हफ्ते पीछा किया था), उसने जनता को संतुष्ट कर दिया है. वह भी संतुष्ट हैं.