राष्ट्रीय मुक्केबाजी : सूरजबाला की नजरें तीसरे गोल्ड पर, निखत को मिला ब्रॉन्ज

विश्व चैम्पियनशिप की सिल्वर मेडल विजेता सरजूबाला देवी (48 किग्रा) सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में तीसरा गोल्ड मेडल जीतने से एक जीत दूर हैं, जबकि कई जानी-मानी खिलाड़ियों को बुधवार को हरिद्वार में सेमीफाइनल में शिकस्त के साथ ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा.

विश्व जूनियर चैम्पियनशिप की पूर्व सिल्वर मेडल विजेता सरजूबाला (48 किग्रा) को रेलवे खेल संवर्धन बोर्ड (आरएसपीबी) की राजेश नरवाल को हराने में पसीना नहीं बहाना पड़ा. मणिपुर की यह मुक्केबाज फाइनल में उत्तराखंड की कृष्णा थापा से भिड़ेंगी जिन्होंने हरियाणा की मोनिका को हराया.

जूनियर विश्व चैम्पियन निखत जरीन को हालांकि सेमीफाइनल में हरियाणा की नीरजा के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा. नीरजा ने दो चेतावनी मिलने के बावजूद फ्लाइवेट वर्ग में निखत को 4-1 से हराया.

निखत ने पहली बार सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में हिस्सा लेते हुए ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद कहा, ‘जब उसे विजेता घोषित किया गया तो मैं स्तब्ध थी, क्योंकि दो चेतावनी के बाद ऐसा कोई तरीका नहीं कि कोई 4-1 से जीत जाए.’

नीरजा फाइनल में आरएसपीबी की मीनाक्षी से भिड़ेंगी जिन्होंने उत्तराखंड की पूनम बिष्ट को 4-1 से हराया. विश्व चैम्पियनशिप की मौजूदा सिल्वर मेडल विजेता सोनिया लाठेर को हराकर उलटफेर करने वाली स्थानीय खिलाड़ी कमला बिष्ट ने अखिल भारतीय पुलिस की सुनीता को 5-0 से हराकर फाइनल में जगह बना ली है जहां उनका सामना हरियाणा की सोनिया से होगा जिन्होंने उत्तर प्रदेश की शैली सिंह को 4-1 से हराया.

एशियाई खेलों की पूर्व ब्रॉन्ज मेडल विजेता कविता गोयत (75 किग्रा) ने आरएसपीबी की मीना रानी को 3-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया. वह फाइनल में अरुणाचल प्रदेश की रूमी गोगोई से भिड़ेंगी जिन्होंने हरियाणा की बंटी को हराया.