रेल मार्ग से जुड़ेंगे चारधाम, रामनगर-गैरसैंण रेल मार्ग पर भी बोले ‘प्रभु’

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने प्रस्तावित राजधानी गैरसैंण में गुरुवार को उत्तराखंड की करीब 531 करोड़ की रेल परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया. उन्होंने उत्तराखंड के चारों धामों को रेल यातायात से जोड़ने की घोषणा की और कहा, इसके लिए जल्द सर्वे किया जाएगा. रेलमंत्री ने बताया टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन के लिए भी आने वाले बजट में प्रावधान किया जाएगा. रेलमंत्री ने रामनगर-गैरसैंण 230 किलोमीटर लंबी रेललाइन के बारे में भी बात की.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को कहा कि उत्तराखंड के विकास के लिए नरेंद्र मोदी सरकार बहुत कोशिश कर रही है और उसके केंद्र में आने के बाद से राज्य के लिए रेल बजट बढ़कर 300 करोड़ रुपये से भी ज्यादा हो चुका है, उन्होंने कहा, अगले साल यह और बढ़कर 500 करोड़ रुपये से भी ज्यादा हो जाएगा.

चमोली जिले में राज्य की प्रस्तावित राजधानी गैरसैंण में रेलवे की 531.16 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद प्रभु ने कहा कि उत्तराखंड के विकास के लिए केंद्र सरकार प्रयत्नशील है. उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार के आने से पहले राज्य के लिए रेल का बजट 100 करोड़ रुपये से कुछ ही अधिक जो अब बढ़कर 300 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया है. साल 2017 के बजट में यह सालाना 500 करोड़ रुपये से ज्यादा हो जाएगा.’

rishikesh-karanprayag-railway

देश और दुनिया में उत्तराखंड की अलग पहचान का जिक्र करते हुए केंद्रीय रेल मंत्री ने कहा कि इस इलाके के विकास के सपने को साकार करने में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का महत्वपूर्ण योगदान है, जिनके कार्यकाल में यहां के लोगों का अलग राज्य निर्माण का सपना पूरा हुआ.

ढांचागत सुविधाओं के विकास को गैरसैंण के विकास के लिए आज की सबसे बड़ी जरूरत बताते हुए प्रभु ने कहा कि इसे देश के अन्य क्षेत्रों से जुडना होगा. उन्होंने बताया कि गैरसैंण को रेललाइन से जोड़ने के लिए रामनगर से 230 किलोमीटर लंबी रेललाइन परियोजना को पिछले साल सैद्वान्तिक मान्यता दे दी गई थी. बाजपेयी जी के प्रयासों से देश में सड़क और दूरसंचार के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आए और मोदी जी के प्रयास इन्हीं बदलावों की अगली कड़ी हैं.

गैरसैंण में इन योजनाओं का हुआ लोकार्पण

  • काठगोदाम, हल्द्वानी, रुद्रपुर सिटी, लालकुआं स्टेशनों पर यात्रियों के लिए उन्नत सुविधाओं का लोकार्पण.
  • हेमपुर इस्माइल स्टेशन और काशीपुर फ्रेट टर्मिनल का लोकार्पण.

railway-track2

केंद्रीय रेल मंत्री प्रभु ने 125 किमी की ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेललाइन का हवाला देते हुए कहा कि 16216 करोड़ रुपये की लागत की इस रेल परियोजना की शुरुआत वन संबंधी मंजूरी मिलने के बाद अगले माह से काम शुरू जाएगा. उन्होंने कहा कि गढ़वाल की प्रसिद्ध चारधाम यात्रा को भी रेलमार्ग से जोड़कर उसे विश्व पर्यटन से जोड़ने की परियोजना पर विचार चल रहा है.

रेलवे की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में प्रभु के साथ रेलवे के तमाम अधिकारियों के अलावा केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा, पौड़ी गढवाल के सांसद भुवन चंद्र खंडूरी, हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक तथा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट व विधानसभा उपाध्यक्ष अनुसूया प्रसाद मैखुरी भी मौजूद थे.

गैरसैंण के राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान पर आयोजित कार्यक्रम में प्रभु ने एक दर्जन से भी ज्यादा योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया. जिनमें हरिद्वार-लक्सर रेल मार्ग दोहरीकरण परियोजना, हरिद्वार-लक्सर के बीच आठ सीमित ऊंचाई वाले सब-वे, देहरादून रेलवे स्टेशन पर दो लिफ्ट एवं दो एस्केलेटर एवं हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर चार लिफ्ट एवं छह एस्केलटर आदि परियोजनाएं शामिल हैं.

समारोह में जनता को संबोधित करते हुए खंडूरी ने कहा कि पैसा सरकार का नहीं जनता का होता है और विकास कार्य के नाम पर धन का दुरुपयोग न हो, इसके लिए जनता को अधिकारियों और नेताओं पर पैनी नजर रखनी चाहिए.