अब रेलवे 31 दिसम्बर तक ई-टिकट बुकिंग में नहीं लेगा कोई सर्विस चार्ज

भारतीय रेल

लोगों को ई-टिकट बुकिंग कराने के लिए आकर्षित करने को 31 दिसंबर तक बुकिंग पर सर्विस चार्ज नहीं लेने का फैसला लिया गया है. उत्तर रेलवे के सीपीआरओ नीरज शर्मा ने इस फैसले की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि 23 नवंबर से 31 दिसंबर तक ई-टिकट बुकिंग पर सर्विस चार्ज नहीं लिया जाएगा.

वर्तमान में कैश की दिक्कत को देखते हुए रेलवे ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग को बढ़ावा देने की योजना बनाई है. 31 दिसंबर तक ई-टिकट की बुकिंग पर सर्विस चार्ज नहीं लेने का फैसला लिया गया है. यह फैसला आज से लागू हो जाएगा. आरक्षण केंद्रों के अलावा आईआरसीटीसी की वेबसाइट और एप के माध्यम से भी रेलवे में टिकट बुक कराए जाते हैं.

ई-टिकट बुक कराने पर यात्रियों पर प्रति टिकट 20 से 40 रुपये तक सर्विस चार्ज देना पड़ता है. इसमें भुगतान क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या कैश कार्ड से किया जाता है. कैश देने की जरूरत नहीं पड़ती. लेकिन सर्विस चार्ज के चक्कर में कई लोग ई-टिकट बुक कराने की बजाय आरक्षण केंद्र से बुकिंग कराने को अहमियत देते हैं. वर्तमान में कैश की किल्लत को देखते हुए रेलवे ने ई-टिकट बुकिंग सेवा को बढ़ावा देने की योजना बनाई है.