IndvsEng: विशाखापट्टनम टेस्ट के चौथे दिन भारत जीत की ओर अग्रसर

भारत ने डॉ. वाई.एस. राजशेखर रेड्डी एसीए-वीसीए क्रिकेट स्टेडियम में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को चौथी पारी में 405 रनों का पीछा कर रही इंग्लैंड के 87 रनों पर दो विकेट चटका दिए हैं. मैच में पूरे एक दिन का खेल बाकी है. भारत को जीत के लिए आठ विकेट की दरकार है, वहीं इंग्लैंड के सामने अभी भी 318 रनों का विशाल लक्ष्य है.

कप्तान एलिस्टर कुक (54) का विकेट गिरते ही दिन का खेल समाप्त घोषित कर दिया गया. दूसरे छोर पर जो रूट पांच रन बनाकर नाबाद लौटे. कुक रवींद्र जडेजा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू करार दिए गए.

कुक के अलावा इंग्लैंड ने हसीब हमीद (25) का विकेट गंवाया है. हमीद, रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू करार दिए गए. चौथी पारी में इंग्लैंड पूरी तरह रक्षात्मक नजर आई और जीत की जगह उसकी नजर ड्रॉ खेलने पर लगी दिखी. इंग्लैंड ने अब तक 1.46 की बेहद धीमी गति से रन बनाए हैं.

इससे पहले तीन विकेट पर 98 रन के स्कोर से आगे खेलने उतरी भारतीय पारी को कप्तान विराट कोहली (81) और अजिंक्य रहाणे (26) ने आगे बढ़ाना शुरू किया. कोहली ने तो अपनी पारी सधे अंदाज में आगे बढ़ानी जारी रखी. लेकिन दूसरे छोर से उन्हें किसी का लंबा साथ नहीं मिल रहा था.

रहाणे भी विराट के साथ एक दिन पहले की साझेदारी में महज 19 रन जोड़ सके. अंतत: आदिल राशिद ने 151 के कुल स्कोर पर कोहली की संघर्षपूर्ण पारी पर भी विराम लगा दिया. कोहली 109 गेंदों में आठ चौके लगाने के बाद बेन स्टोक्स के हाथों लपके गए.

जयंत यादव (नाबाद 27) और मोहम्मद समी (19) ने 10वें विकेट के लिए 42 रनों की साझेदारी कर भारतीय टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचाया. समी का विकेट गिरने के साथ भारत की दूसरी पारी 204 रनों पर समाप्त हुई.

पहली पारी के आधार पर 200 रनों की बढ़त हासिल कर चुकी भारतीय टीम ने इसके साथ ही इंग्लैंड के सामने जीत के लिए चौथी पारी में 405 रनों का लक्ष्य रखा. इंग्लैंड के लिए राशिद और स्टुअर्ट ब्रॉड ने चार-चार विकेट चटकाए.

भारत ने कोहली (167) और चेतेश्वर पुजारा (119) की बदौलत पहली पारी में 455 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था, जवाब में इंग्लैंड की पहली पारी महज 255 रनों पर सिमट गई. इंग्लैंड की पहली पारी समेटने में रविचंद्रन अश्विन का विशेष योगदान रहा.

अश्विन ने इंग्लैंड के पांच बल्लेबाजों को चलता किया. अश्विन ने इससे पहले बल्ले से भी अहम योगदान देते हुए 58 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली थी. इंग्लैंड के लिए पहली पारी में बेन स्टोक्स (70), जो रूट (53) और जॉनी बेयरस्टो (53) का अहम योगदान रहा.

पांच मैचों की सीरीज में पहला मैच ड्रॉ रहा.