नोटबंदी पर संसद में लगातार हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही तीसरी बार स्थगित, लोकसभा में नारेबाजी

नोटबंदी के मामले पर सड़क से लेकर संसद तक सियासी हंगामा जारी है. शुक्रवार को जब संसद की कार्यवाही शुरू हुई तो विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया. विपक्षी सदस्य संसद में नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा के साथ मतविभाजन भी चाहते हैं लेकिन सरकार नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार है. हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. फिर जब सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो विपक्ष ने हंगामा जारी रखा. इसके बाद सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई. जोरदार हंगामे के बीच राज्यसभा की कार्यवाही भी 11.30 तक के लिए स्थगित कर दी गई. 11.30 जब सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो फिर हंगामे के कारण इसे 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. तीसरी बार फिर राज्यसभा की कार्यवाही 12.33 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

गुलाम नबी आजाद से की माफी की मांग
राज्यसभा में बीजेपी के सांसद गुलाम नबी आजाद से माफी की मांग कर रहे हैं. दरअसल, गुरुवार को गुलाम नबी आजाद ने कथित तौर पर नोटबंदी से हुई मौतों को उड़ी हमले से जोड़ा था, जिसे लेकर बीजेपी के सांसद लगातार विरोध कर रहे हैं.

लोकसभा में बीजेपी ने जारी किया व्हिप
वहीं लोकसभा में नोटबंदी पर विपक्ष चर्चा के बाद वोटिंग चाहता है, जिसे लेकर बीजेपी ने व्हिप जारी कर सांसदों को सदन में मौजूद रहने को कहा है.

पीएम ने की वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक
वहीं नोटबंदी के मुद्दे पर संसद में रणनीति को लेकर आज पीएम मोदी ने अपने वरिष्ठ मंत्रियों से मुलाकात की. इस बैठक में अरुण जेटली, अनंत कुमार और वेंकैया नायडू मौजूद थे.

गुरुवार को भी विपक्ष ने पुराने 500-1000 रुपये के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विपक्ष ने जबरदस्त लामबंदी करते हुए फैसले से समाज के गरीब तबके के लोगों को हो रही परेशानी से सरकार को अवगत कराया. इसके साथ ही विपक्ष ने इस फैसले को सरकार की तरफ से पहले ही अपने चहेतों को लीक करने का आरोप लगाया.

इस बीच कई वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियो ने विपक्ष के इन आरोपों को सिरे से नकारते हुए विपक्ष से पूछा कि क्या वे काले-धन से आजादी पाना चाहते हैं या नहीं.