श्रमिकों को मजदूरी में दिए पुराने नोट और फिर वे सुपरवाइजर पर टूट पड़े

देशभर में 500-1000 के नोट बंद हो चुके हैं, लेकिन जब एक कंपनी के श्रमिकों को मजदूरी के रूप में पुराने नोट मिले तो वे भड़क गए. नए नोट न मिलने पर श्रमिकों ने सुपरवाइजर की पिटाई लगा दी. घायल सुपरवाइजर को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है.

हरिद्वार जिले के भगवानपुर क्षेत्र स्थित एक दवाई कंपनी में सुपरवाइजर के पद पर तैनात शौकीन बुधवार को श्रमिकों को मजदूरी दे रहा था. जब उसने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट दिए तो श्रमिकों ने लेने से इनकार कर दिया. लेकिन, सुपरवाइजर ने नए और खुले नोट होने से इनकार कर दिया.

इस पर श्रमिकों और सुपरवाइजर के बीच नोकझोंक हो गई. देखते ही देखते श्रमिकों ने सुपरवाइजर की पिटाई कर दी. अन्य कर्मियों के बीचबचाव पर घायल को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया. कंपनी की ओर से फिलहाल किसी श्रमिक के खिलाफ शिकायत नहीं दी गई है.