पढ़ें मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अब पीएम मोदी के सामने रखी क्या मांग

छोटी मुद्रा की कमी के कारण व्यापारी और आम जनता दोनों को हो रही परेशानी का जिक्र करते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छोटी मुद्रा को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने का आग्रह किया. उन्होंने कहा, पुरानी मुद्रा को भी एक निश्चित मात्रा में वैध घोषित किया जाए.

प्रधानमंत्री मोदी को लिखे एक पत्र में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि वर्तमान में जारी नई मुद्रा की उपलब्धता बहुत कम है और दो हजार रुपये के नोट से बाजार में खरीदारी करने में लोगों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा, ‘छोटी मुद्रा की कमी के कारण व्यापारी और आमजन दोनों ही प्रभावित हो रहे हैं. पर्यटन, होटल, रेहड़ी-पटरी वाले और छोटे व्यवसायी भी इससे बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं. हमारे जैसे उपभोक्ता प्रधान राज्य में इससे सर्वाधिक प्रभाव पड़ रहा है.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि यह शादी-ब्याह का सीजन है और मुद्रा की कमी के कारण लोगों को उन्हें भी टालना पड़ रहा है.

रावत ने प्रधानमंत्री से इन समस्याओं के समाधान के लिए बड़ी मात्रा में नई मुद्रा संचालित करने, छोटी मुद्रा को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने के अलावा पुरानी मुद्रा को भी एक निश्चित मात्रा में वैध घोषित करने का अनुरोध किया है.

मुद्रा की कमी के कारण लोगों में दिख रही अफरा-तफरी के माहौल का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने आशंका व्यक्त की कि अगर कुछ और दिन ऐसी ही स्थिति बनी रही तो आवश्यक वस्तुओं तथा खाद्य सामग्री की उपलब्धता की कमी की गंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती है.

काले धन के खिलाफ युद्ध को आवश्यक बताते हुए उन्होंने हालांकि कहा कि काले धन के सौदागरों तथा आमजनों में फर्क करना जरूरी है.

इस संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘लोगों ने अपने भविष्य के लिए अपने खून-पसीने की कमाई से पूंजी इकट्ठा की है, जिसे काले धन की परिधि से दूर रखना आवश्यक है.’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ऐसे धन की मात्रा घोषित करे, जिसे संचयकर्ता नए नोटों से बदल सके.

ऐसा न होने की स्थिति में काले धन के खिलाफ मुहिम के कमजोर पड़ने की आशंका व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी से व्यवहारिकता के साथ इस प्रकरण का समाधान तत्काल निकालने का अनुरोध किया.