ग़ाजीपुर: मैं पंडित नेहरु का छोड़ा काम पूरा कर रहा हूं – मोदी

फ़ोटो साभार - आजतक

बनारस से सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाजीपुर में एक रैली को संबोधित किया. सबसे पहले पीएम मोदी ने भोजपुरी में बोलकर लोगों को कुछ मिनटों तक संबोधित किया और फिर वह हिंदी में बोलने लगे.

पीएम मोदी ने कहा कि दो साल में दो बार गाजीपुर में आने का मौका मिला. पीएम मोदी ने कहा कि मैंने लोगों से अपने पर भरोसा करने की अपील की थी. आप लोगों ने मेरी बात मानी, मुझपर भरोसा किया. यहां से मनोज सिन्हा जीते. उन्होंने कहा कि 2014 के चुनाव में अगर यूपी पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में मदद न करता तो कालाधन वाले और भ्रष्टाचारियों को चिंता न होती. गरीब चैन की नींद सो रहा है और कालाधन वाले परेशान हैं. नींद की गोली खरीब रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वांचल में गरीबों की बीमारी को लेकर हम सोचा और इसका रास्ता निकाल रह हैं. यहां के लोगों को इलाज के लिए बाहर जाना पड़ता है. उत्तर प्रदेश ने देश को कई पीएम दिए. पीएम मोदी ने कहा कि सांसद विश्वनाथ प्रताप ने रोते हुए संसद में भाषण दिया. उन्होंने पीएम नेहरू को कहा था कि पूर्वांचल में गरीबी भयानक है. यहां के लोग गोबर से गेहूं के दाने निकालकर पेट भर रहे हैं.

तब पंडित नेहरू ने एक समिति बनाई थी. रिपोर्ट सालों तक डिब्बे में बद रही. गोरखपुर में खाद का कारखाना लगवाया. इस राज्य ने नौ प्रधानमंत्री दिए. मैं नौवा पीएम हूं. लेकिन उनकी योजनाओं को मैं यहां पूरा करने का काम कर रहा हूं. पंडित जी को उनके जन्मदिन पर ऐसी श्रद्धांजलि नहीं दी गई होगी.

गंगा पर पुल बनाया जाएगा. इस योजना का शिलांन्यास किया. सरकारे आई गईं, लेकिन गंगा को पार करने के लिए कोई व्यवस्था नहीं हुई. यहां पर काम शुरू हो गया है और समय पर काम पूरा किया जाएगा.पीएम मोदी ने कहा कि यहां की सब्जी को बाहर भेजने की व्यवस्था की जा रही है ताकि उसकी आय बढ़ सके. उन्होंने कहा कि पीएम फसल बीमा योजना किसानों के लाभ के लिए शुरू की है.

पीएम मोदी ने कहा कि तैयार फसल नष्ट हो या फिर खलियान में नष्ट हो जाए तब भी सरकार बीमा का पैसा देगी. यानि कटाई के 15 दिन बाद भी फसल बरबाद होती है तब भी फसल बीमा का पैसा दिया जाएगा ताकि किसान को किसी प्रकार की दिक्कत न हो. पीएम मोदी ने कहा कि ये सरकार, गांव के लिए है, किसान के लिए है, गरीब के लिए हैं. पीएम मोदी ने कालाधन की ओर इशारा करते हुए कहा कि जहां धन होना चाहिए वहां नहीं है, जहां नहीं होना चाहिए वहां पड़ा है.

पीएम मोदी ने कहा कि जनता ने उन्हें भ्रष्टाचार और कालाधन के खिलाफ लड़ने के लिए चुना गया. इसलिए मैं यह काम कर रहा हूं. पीएम मोदी ने कहा कि जब गांव का आदमी भी देश की ईमानदारी के लिए कष्ट झेलने के लिए तैयार है, तो देश सुधरेगा.
पीएम मोदी ने कहा कि इरादा नेक हो तो काम ठीक होगा. पीएम मोदी ने कहा कि देश की भलाई के लिए यह सारे काम हो रहे हैं. इससे गरीब, किसान और गांव का भला होगा. कई राजनीतिक दल परेशान हैं. नोटों की माला वाले अब परेशान हैं. पीएम मोदी ने कहा कि कालाधन रखने वालों के घर में छापे मारते रहते तो कई साल लग जाते, इसलिए जल्दी से आसान रास्ता अपनाया गया. आज गरीब अमीर समान हो गए.

आज सामान्य ईमानदार नागरिक को तकलीफ हो रही है, उसकी पीड़ा है, मैं पूरा प्रयास कर रहा हूं कि समस्या दूर हो. पीएम मोदी ने अपने विपक्षियों पर हमला करते हुए कहा कि कुछ लोगों को काफी दिक्कत हो रही है. ईमानदारी के नाम पर देश की जनता को गुमराह करने वालों को कहना चाहता हूं कि हिम्मत हो तो सबको बताओ कालाधन चलना चाहिए, भ्रष्टाचार चलना चाहिए. ऐसे में 500-1000 रुपये के नोट चलना चाहिए.

पीएम ने कहा कि गरीब के मदद करने के लिए पूरी कोशिश कर रहा हूं. पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने 19 महीने इमरजेंसी लगाया. देश को जेलखाना बनाया है. लाखों लोगों को जेल में रखा. पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने करोड़ों लूटे. कोई विरोध करता, उसे जेल में डलवा दिया. क्या यह सब भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए किया था. गरीबों के लिए किया था. केवल इंदिरा गांधी की गद्दी बचाने के लिए कांग्रेस ने देश में इमरजेंसी लगा दी. इंदिरा गांधी को कानून ने हटाया था, लेकिन फिर इमरजेंसी लागू की गई.

पीएम मोदी ने कहा कि जब चवन्नी बंद की तब क्यों की. आप चवन्नी नहीं पसंद करते थे. आपने वह काम किया. हमने यह काम किया. पीएम मोदी ने कहा कि गरीब को कड़क चाय पसंद, लेकिन अमीर का मुंह बन जाता है. पीएम मोदी ने कहा कि जाली नोट का खात्मा होना चाहिए कि नहीं. आतंकवाद, और जाली नोट खत्म करने के लिए यह कदम जरूरी था. पीएम मोदी ने कहा कि नोट बंद होने के भ्रष्ट लोग परेशान हैं. अफवाहें फैलाई जा रही हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि माताओँ बहनों में अफवाएं फैलाई जा रही हैं कि उनकी बचत मोदी ले रहा है, लेकिन ऐसा नहीं है. महिलाओँ के पैसे को बैंक में आने से ब्याज भी मिलेगा. महिलाओं को 2.5 लाख तक पूरी छूट है. कोई कुछ नहीं पूछेगा. लेकिन, 2.5 करोड़ वालों को नहीं छोड़ूंगा. पीएम मोदी ने कहा कि रात में गाड़ियां निकलती हैं. और चोरी छिपे कूड़े के ढेर में नोट फेंक रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा, गंगा में लोग नोट बहा रहें हैं.

उन्होंने यहां कई योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. प्रधानमंत्री के पहुंचने से पहले ही मैदान भर गया. चारों ओर मोदी व मनोज सिन्हा के कटआउट लगाए गए और यहां पर खूब नारेबाजी हुई. गाजीपुर की रैली को संबोधित करते हुए मोदी जनता को कई सौगातें देने वाले हैं. रैली के लिए लोग सुबह से ही यहां पहुंचने लगे. रैली स्थल भाजपा के झंडों-बैनरों से पट गए थे.

मोदी परिवर्तन रैली के दौरान 1,766 करोड़ की लागत से बनी गाजीपुर और मऊ को जोड़ने वाले ताड़ी घाट रेलवे पुल का शिलान्यास किया. इसकी मांग कई दशकों से उठ रही थी. मोदी गाजीपुर से कोलकाता के बीच एक सीधी ट्रेन को भी रही झंडी दिखाई. रैली के दौरान वह 517 करोड़ रुपये से नवनिर्मित कागरे केंद्र का लोकार्पण किया. साथ ही घर बचत बीमा योजना के तहत दो ग्राम प्रधानों को सम्मानित किया जाएगा और सुकन्या समृद्धि योजना के पांच लाभार्थियों को पासबुक वितरित किए.