पाकिस्तान ने कहा, भारतीय गोलीबारी में हमारे सात सैनिक मारे गए

इस्लामाबाद…! पाकिस्तान की सेना ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर पर नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की फायरिंग में उसके सात सैनिक मारे गए हैं. पाकिस्तान की मीडिया शाखा इंटर- सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स ने बताया, ‘भारतीय सेना द्वारा बीती रात नियंत्रण रेखा पर भीमबर सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन कर की गई गोलीबारी में सात सैनिक मारे गए.’

बता दें कि 2003 में जो संघर्षविराम चालू हुआ था वह पिछले कुछ समय से बेमानी सा प्रतीत होता है.

पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग के अधिकारी गौतम बंबावले को पाकिस्तान सरकार की ओर से आज तलब किया गया था ताकि वे आधिकारिक रूप से इसकी शिकायत दर्ज करवा सकें.

बता दें कि 29 सितंबर को भारतीय जवानों द्वारा सर्जकिल स्ट्राइक किए जाने के बाद सीमा पर तनाव है. पाकिस्तान इस बात का खंडन करता रहा है कि भारतीय जवानों ने एलओसी पार कोई सर्जिकल स्ट्राइक किया है. भारत ने पठानकोट हमले और उरी में आतंकी हमलों के जवाब में सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था.

जानकारी के लिए बता दें कि उरी में आतंकी हमले में 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. अब तक दोनों ओर से लोगों के मारे जाने की बात कही जाती रही है लेकिन, पाकिस्तान ने पहली बार सात सैनिकों की मौत की बात को सार्वजनिक रूप से स्वीकारा है.

बयान में कहा गया है कि पाकिस्तानी सेना ने भारत की ‘बिना उकसावे के की गई गोलाबारी’ का जवाब दिया और ‘भारतीय चौकियों पर प्रभावी तरीके से प्रहार’ किया.

पाकिस्तान ने बीते हफ्ते एक से अधिक बार भारत और संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक के सामने ‘भारतीय सैनिकों द्वारा नागरिक आबादी को निशाना बनाने’ पर विरोध दर्ज कराया है.

पाकिस्तान का कहना है कि बीते कुछ हफ्तों में भारत की गोलाबारी में कम से कम 25 नागरिक मारे गए हैं.