बीजेपी की परिवर्तन रथ यात्रा आज से, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह करेंगे आगाज

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले रविवार को बीजेपी की ‘परिवर्तन की रथ यात्रा’ शुरू हो रही है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अस्थायी राजधानी देहरादून से इस रथ यात्रा का आगाज करेंगे.

प्रदेश बीजेपी की टीम ने इस रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. रविवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बन्नू स्कूल के मैदान से मुख्यमंत्री हरीश रावत की सरकार को उखाड़ने के लिए उत्तराखंड वासियों का आह्वान करेंगे. पार्टी के नेता इस रैली को सफल बनाने में दिन रात लगे हैं.

पहले पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक और फिर काले धन के खिलाफ की गई केन्द्र सरकार की कार्रवाई ने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का आत्मविश्वास बढ़ा दिया है.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली से पहले ही केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट सहित तमाम नेताओं ने पहले रैली स्थल की पूजन किया. बीजेपी के तमाम नेताओं ने शहीद स्थल पहुंचकर उत्तराखंड राज्य आंदोलन के शहीदों को नमन किया. बीजेपी ने न सिर्फ रैली स्थल का पूजन किया, बल्कि कुमाऊं और गढ़वाल के दोनों रथों की भी विधिवत पूजा-अर्चना की.

दरअसल बीजेपी की बजट सत्र के दौरान विधानसभा कूच की रैली भी बन्नू स्कूल मैदान से शुरू हुई थी. इस रैली में ही शक्तिमान घोड़े की टांग टूटी थी. शक्तिमान घोड़े की टांग टूटने के बाद पूरे देश में बीजेपी की किरकिरी हुई थी. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार रैली को असफल करने की कोशिश कर रही है. अजय भट्ट ने कहा कि रैली एतिहासिक होगी और विरोधियों की सद्बुद्धि के लिए बीजेपी भूमि पूजन कर रही है.

चुनाव से पहले बीजेपी ने अपनी पूरी फौज मैदान में उतार दी है. रविवार 13 नवम्बर को देहरादून में होने जा रही रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी ने सांसदों, विधायकों के साथ ही प्रदेश व जिला स्तर के सभी पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं.

केन्द्रीय मंत्री जेडी नड्डा, प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान और श्याम जाजू के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री निशंक, खंडूडी, कोश्यारी और विजय बहुगुणा रैली को सफल बनाने में जुटे हैं. बीजेपी की परिवर्तन यात्रा राज्य की सभी 70 विधानसभाओं में जाएगी.

यात्रा की खास रणनीति यह है कि हर विधानसभा में एक बड़ी रैली आयोजित होगी. केन्द्रीय मंत्रियों के अलावा पार्टी के कई दिग्गज नेता भी परिवर्तन यात्रा में दिखाई देंगे. राष्ट्रीय अध्यक्ष की तीन जनसभाएं देहरादून, अल्मोडा और हल्द्वानी में आयोजित होगी.