राहुल गांधी द्वारा बैंक की लाइन में लगकर नोट निकालने को बीजेपी ने बताया फोटो खिंचवाने की नौटंकी

बीजेपी ने नोट बदलवाने के लिए राहुल गांधी के बैंक जाने को ‘फोटो खिंचवाने का अवसर’ बताया और कहा कि ‘बड़े घरानों’ को भी अब लाइन में लगना पड़ता है और कानून का पालन करना होता है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष पर तंज कसते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अगर वह कांग्रेस पार्टी में लाइन में खड़े होते और सबसे उपयुक्त व्यक्ति को शासन करने देते तो उनकी पार्टी अच्छी स्थिति में होती.

उन्होंने बयान जारी कर कहा, ‘जिन लोगों का जन्म बड़े घरानों में हुआ वे इस स्थिति में जिए कि शासन करने के लिए ही पैदा हुए हैं. वे कभी पंक्ति में खड़े नहीं हुए. पद धारण करना उनका जन्म से अधिकार था. राहुल गांधी पार्टी का नेता बनने के लिए कभी लाइन में खड़े नहीं हुए.’

उन्होंने कहा, ‘वे ज्यादा अनुभवी और सक्षम लोगों से आगे महज इसलिए निकल गए कि बड़े घरानों के लोग लाइन में नहीं लगते. यह वंशवादी नीति है. अगर वह कांग्रेस पार्टी में लाइन में लगे होते और सबसे उपयुक्त व्यक्ति शासन करता तो पार्टी की स्थिति बेहतर होती.’ राहुल के बैंक जाने पर प्रहार करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि वह पंक्ति में खड़े होकर सुर्खियां बटोरना चाहते थे.