पीएम मोदी ने ली चुटकी- पहले गंगा में कोई रुपया नहीं डालता था, अब 500-1000 के नोट बह रहे हैं

जापान की यात्रा पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीसरे दिन कोबे में भारतीय समुदाय के लोगों से मिले. यहां उन्होंने भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं कोबे में आऊं और आपसे मिले बिना चला जाऊं, ऐसा नहीं हो सकता.

उन्होंने कहा, ‘मुझे यकीन है कि भारत में जो भी होता है, उससे आपका सिर गर्व से ऊंचा होता होगा. भारत में जो भी अच्छा होता है, उसकी वजह सिर्फ सवा सौ करोड़ देशवासी ही हैं.’ पीएम मोदी ने कहा कि देश आर्थिक विकास पर तेजी से काम कर रहा है और पूरा विश्व कह रहा है कि सबसे तेज गति से जिस देश की अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही है, वह भारत है.

पीएम मोदी ने इस मौके पर भारत में 500 और 1000 के नोट बंद करने के फैसले पर लोगों के सपोर्ट की प्रशंसा की. उन्होंने कहा, ‘मैं लोगों की पहल को नमन करता हूं, तकलीफों के बावजूद फैसले को स्वीकारा है. देश के गरीबों ने अमीरी दिखाई है, अमीरों की गरीबी तो बहुत बार देखी है.’

पीएम मोदी ने काला धन रखने वालों पर आई मुसीबत पर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा, ‘पहले गंगाजी में कोई 1 रुपया भी नहीं डालता था. पर अब उसी गंगा नदी में 500/100 के नोट बह रहे हैं.’