नोटबंदी की घोषणा के बाद ‘यहां’ जली हालत में मिली 500-1000 के नोटों से भरी बोरियां

कालेधन पर अंकुश लगाने की सरकार की नोटबंदी की घोषणा के बाद उत्तर प्रदेश के बरेली में 500-1000 के नोटों से भरी बोरियां जली मिलीं.

सूत्रों के मुताबिक शहर के सीबी गंज इलाके में पारसा खेड़ा रोड पर नोटों से भरी इन बोरियों को एक कंपनी के कर्मचारियों ने यहां लाकर जला दिया.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक ऐसा लग रहा है कि इन नोटों को फाड़कर जलाया गया. पुलिस ने इन जले हुए नोटों को जब्‍त कर लिया है और आरबीआई अधिकारियों को घटना के संबंध में जानकारी दी गई है.

अफवाह! कब्रिस्तान में ट्रक भरकर फेंके 500 के नोट
उधर नोएडा में 500 और 1000 के नोट बंद करने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद, सोशल मीडिया पर इन नोटों को रद्दी के बराबर बताते हुए हंसी-मजाक चल रहा है.

लोग इससे जुड़ी अलग-अलग मजेदार तस्वीरें शेयर कर रहे हैं, पर गाजियाबाद में तो हकीकत में ऐसी अफवाह फैल गई कि किसी ने कार्टन में भर कर नोटों की गड्डियां एक कब्रिस्तान में फेंकी हैं. इस सूचना के बाद लोगों में हड़कंप मच गया, साथ ही पुलिस भी छानबीन के लिए पहुंच गई.

यह मामला उधर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पास गाजियाबाद में लिंक रोड के कब्रिस्तान का है, जहां तेजी से यह अफवाह फैली कि कोई यहां नोटों की गड्डियों से भरे कार्टन फेंक गया है. इस अफवाह के बाद, आसपास रहने वाले कई लोग कब्रिस्तान की ओर भागे. इस बीच किसी ने पुलिस को भी सूचना दे दी. थोड़ी देर में पुलिस भी मौके पर आ गई, पर जब कार्टन को खोलकर देखा गया तो उसमें से धागा और कबाड़ का सामान निकला.

1000 और 500 के नोट बंद होने के बाद देश में तरह-तरह की बातें फैलाई जा रही हैं, उत्तरांचलटुडे अपने पाठकों से निवेदन करता है कि आप ऐसी किसी बात पर कतई यकीन न करें. और बता दें कि अपने पास रखे 500 और 1000 के नोटों को बदलने के लिए आपके पास 30 दिसंबर तक का वक्त है. यही नहीं मार्च तक भी आप अपने नोट बदल सकते हैं.