भारत-अमेरिका के रिश्ते डोनाल्ड ट्रंप के शासनकाल में विकसित होंगे : अमेरिकी राजदूत

अमेरिका में बुधवार को डोनाल्ड ट्रंप के 45वां राष्ट्रपति चुने जाने के बाद अमेरिका के भारत में राजदूत रिचर्ड वर्मा ने कहा कि भविष्य में भारत और अमेरिका के रिश्तों का विकास जारी रहेगा. वर्मा ने कहा कि भारत और अमेरिका के रिश्ते भारतीय और अमेरिकी नेताओं की दोस्ती से आगे के हैं.

वर्मा ने कहा, ‘राजनीतिक नक्शे पर चाहे डेमोक्रेट हों या रिपब्लिकन या स्वतंत्र, लाल या नीला हों, यह हमारे मूल्यों की कुछ बुनियादी बात है और अमेरिकी के रूप में हमारे मूल में है. मैं आश्वस्त हूं कि यह कुछ ऐसी चीज है जिसे हम दोनों, दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में सराहना कर सकते हैं.’

उन्होंने कहा कि ये संबंध हमारे दोनों देशों को साझा लोकतांत्रिक मूल्यों में एक साथ बांधते हैं और ये अमेरिकी राष्ट्रपति और भारतीय प्रधानमंत्री की दोस्ती से परे हैं. ये रिश्ते आर्थिक एवं व्यक्ति से व्यक्ति के रिश्ते से परे जाते हैं. अमेरिका और भारत के रिश्ते आवश्यक रूप से महत्वपूर्ण हैं और इसका दोनों समर्थन करते हैं, यह और मजबूत हो रहा है. यह (ट्रंप की जीत) अमेरिका और भारत की दोस्ती को और पुख्ता करने के लिए और चार वर्ष हैं.

उन्होंने कहा, ‘जब मैं पीछे नजर डालता हूं तो अमेरिका और भारत के रिश्ते के लिए पिछले दो वर्ष को अब तक का सबसे अच्छे वर्ष कहा जा सकता है. हमलोग अगले प्रशासन को बहुत अच्छे आकार में मशाल सौंप रहे हैं.’