खुशखबरी : अगले साल मार्च तक ‘खुले में शौच से मुक्त’ हो सकता है उत्तराखंड

देश के कुछ राज्य खुले में शौच के अभिषाप से मुक्त हो चुके हैं और अब उत्तराखंड की बारी है. उत्तराखंड, गुजरात और मिजोरम अगले साल मार्च तक खुद को ‘खुले में शौच से मुक्त’ घोषित कर सकते हैं. इस प्रकार यह दर्जा हासिल करने करने राज्यों की कुल संख्या बढ़कर छह हो जाएगी.

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि तीन राज्यों गुजरात, मिजोरम, उत्तराखंड अगले साल मार्च तक खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर सकते हैं. हरियाणा भी इस समयावधि में यह उपलब्धि हासिल कर सकता है. अब तक तीन राज्यों केरल, हिमाचल प्रदेश और सिक्किम ने खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया है.

इसके अलावा, 1.14 लाख से अधिक गांव, 61 जिले, 637 खंड, 50492 ग्राम पंचायतें भी अब तक खुले में शौच से मुक्त हो चुकी हैं और अगले साल मार्च तक सरकार का लक्ष्य 175 जिलों को खुले में शौच से मुक्त बनाने का है.

केन्द्र सरकार का पूरे देश को 2019 तक खुले में शौच से मुक्त घोषित करने का लक्ष्य है.