कभी डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिका के लिए खतरनाक कहा था, अब ओबामा के दिल को छू गई उनकी बात

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने देश के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को उनकी जीत के लिए बधाई देते हुए कहा कि अब पूरा देश एकता एवं देश के नेतृत्व में उनकी सफलता के लिए कामना कर रहा है. साथ ही ओबामा ने अपने उत्तराधिकारी को सत्ता के सुचारू ढंग से हस्तांतरण का संकल्प भी जताया. ओबामा ने कहा कि में हार का दुख है, लेकिन ट्रंप के भाषण में कही बातें उनके दिल को छू गईं.

ओबामा ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि आज हर किसी के लिए रात बहुत लंबी है. मेरे लिए थी. मुझे तड़के करीब साढ़े तीन बजे नवनिर्वाचित राष्ट्रपति से बात करने का मौका मिला और मैंने चुनाव में जीत के लिए उन्हें बधाई दी तथा कल (गुरुवार) वाइट हाउस आने एवं यह सुनिश्चित करने के लिए बातचीत करने का निमंत्रण दिया कि हमारे बीच सत्ता का सुचारू रूप से हस्तांतरण हो.’

चुनावों के परिणामों पर ओबामा की व्हाइट हाउस के रोज़ गार्डन से यह पहली टिप्पणी थी. उप राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मौजूद ओबामा ने कहा कि यह बात छिपी नहीं है कि ट्रम्प और उनके बीच कुछ महत्वपूर्ण मतभेद हैं, ‘लेकिन याद है कि आठ साल पहले मेरे और राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के बीच भी महत्वपूर्ण मतभेद थे, लेकिन राष्ट्रपति बुश की टीम सत्ता का सुचारू हस्तांतरण सुनिश्चित करने के लिए अधिक पेशेवर या अधिक उदार नहीं हो पाई थी.’

ओबामा ने अपने भाषण के दौरान माना कि चुनाव में अपने पक्ष के हारने पर हर व्यक्ति दुखी होता है लेकिन अगले ही दिन हमें यह ध्यान रखना होगा कि हम सब एक टीम हैं. उन्होंने कहा कि जीत के बाद ट्रम्प के बुधवार रात के भाषण में और फोन पर हुई उनकी बातचीत के दौरान की गई ट्रम्प की इन टिप्पणियों ने उनका दिल छू लिया कि वह देश के लिए सर्वश्रेष्ठ चाहते हैं.

ओबामा ने कहा, ‘हम पहले डेमोक्रेट या रिपब्लिकन नहीं हैं. हम पहले अमेरिकी हैं और इस देश के लिए वह चाहते हैं जो सर्वश्रेष्ठ हो. यह बात मैंने बीती रात ट्रम्प की टिप्पणियों में सुनी. जब मेरी उनसे सीधी बातचीत हुई तब भी मैंने सुना और इन बातों ने मेरा दिल छू लिया.’

उन्होंने कहा, ‘एक चीज तो आप मानेंगे कि राष्ट्रपति पद और उप राष्ट्रपति पद हममें से कहीं बड़ा है इसलिए मैंने अपनी टीम को यथासंभव कड़ी मेहनत करने का निर्देश दिया ताकि हम नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के लिए सत्ता का सुचारू रूप से हस्तांतरण सुनिश्चित कर सकें.’

ओबामा ने अपने प्रशासन में विदेश मंत्री रहीं और डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलरी क्लिंटन को भी फोन किया और उनके मजबूत प्रचार अभियान को लेकर उनकी तारीफ की.