11 नवम्बर तक सभी नेशनल हाइवे टोल मुक्त | पेट्रोल पम्प, गैस, दवा, रेलवे में सभी पूराने नोट मान्य

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि यह गरीबों के हित में फैसला है. यह भारत को कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में बड़ा कदम है. फैसले का विरोध करने पर नायडू ने कांग्रेस पर सवाल खड़े किए और कहा कि संशय क्यों पैदा किया जा रहा है? किंतु-परंतु क्यों?

वहीं जनता को राहत देने के लिए सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी ऐलान किया कि 11 नवंबर तक किसी भी नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स नहीं लगेगा.

वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ऊंचे मूल्य के नोटों को चलन से हटाने से मध्यावधि में कर वसूली बढ़ेगी. बैंकों की जमा में भी वृद्धि होगी. सभी पुराने नोट पाबंदी के 72 घंटे तक टोल प्लाजा, सरकारी व निजी दवाखानों, एलपीजी सिलेंडर खरीद, रेलवे खानपान तथा पुरातत्व संग्रहालयों की टिकट खरीद के लिए विधि मान्य रहेंगे. चलन से वापस लिए गये 500 और 1,000 रुपये के नोट के बदले बैंकों और डाकघरों में उपयुक्त मात्रा में करेंसी दो-तीन सप्ताह में उपलब्ध हो जाएगी.