समूचे राज्य में मनाया गया उत्तराखंड स्थापना दिवस, शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए

उत्तराखंड राज्य की 16वीं वर्षगांठ हर्षोल्लास समूचे राज्य में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई. उत्तराखंड के लोग देश और दुनिया के जिस भी कोने में रहते हैं, उन्होंने वहां भी उत्तराखंड स्थापना दिवस मनाया. नैनीताल जिले में मुख्य समारोह जिला मुख्यालय नैनीताल में आयोजित किया गया. बुधवार सुबह विधायक सरिता आर्या, राज्य आन्दोलनकारियों, गणमान्य नागरिकों ने चिड़ियाघर स्थित शहीद स्मारक पहुंचकर शहीद राज्य आन्दोलनकारियों को श्रद्धासुमन अर्पित किए.

फ्लैट्स मैदान में आयोजित विकास प्रदर्शनी का रिबन काटकर वित्त मंत्री डॉ. इन्दिरा हृदयेश तथा विधायक सरिता आर्या एवं अध्यक्ष नगरपालिका श्याम नारायण ने शुभारम्भ किया. इस अवसर पर फलैट्स मैदान स्थित राजकीय विद्यालय में इंदिरा अम्मा भोजनालय का भी शुभारम्भ विशिष्ठजनों द्वारा किया गया.

मुख्य मंच पर विशिष्ठजनों द्वारा ‘बढ़ रहा है उत्तराखंड जन-जन के संग’ विकास पुस्तिका का लोकापर्ण किया. इस अवसर पर छोलिया दल व अन्य कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए. शहर के राज्य आंदोलनकारियों को वित्त मंत्री ने गुलदस्ते देकर सम्मानित भी किया. मुख्य अतिथि ने जिले की 24 ग्राम सभाओं के ग्राम प्रधानों को ‘ग्रामश्री योजना’ के अन्तर्गत प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कारों के रूप में तीन लाख, दो लाख तथा एक लाख की धनराशि के चैक एवं प्रशस्ति पत्र दिए. ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के अन्तर्गत जिले के अच्छे कार्य करने वाली ग्राम सभाओं को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया.

अपने संबोधन में वित्त मंत्री डॉ. इंदिरा हृदयेश ने सभी को शुभकामना देते हुए कहा कि मैं इस अवसर पर आप सभी को बधाई देने के साथ ही राज्य आन्दोलन के अमर शहीदों को शत्-शत् नमन करती हूं. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में अपनी 16 वर्ष की यात्रा में विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं. राज्य की वार्षिक विकास दर राष्ट्रीय विकास दर से डेढ़गुनी है. औद्योगिक विकास दर लगभग 16 प्रतिशत व सेवा क्षेत्र में विकास दर 12, कृषि विकास दर 05 प्रतिशत है.

उन्होंने कहा कि राज्य के गरीब तबके को विभिन्न प्रकार की पेंशनों के माध्यम से उनका आर्थिक विकास किया गया है. समाज कल्याण की विभिन्न पेंशनों की धनराशि बढ़ाकर एक हजार रुपये कर दी गई है. हमने समाज के प्रत्येक वर्ग व राज्य के प्रत्येक क्षेत्र को लाभान्वित किया है. उन्होंने कहा है कि गरीब व आम आदमी को सस्ता, शुद्ध व रियायती दरों पर भोजन मिले इसलिए इंदिरा अम्मा भोजनालय खोले गए हैं. इसी कड़ी में नैनीताल पर्यटन नगरी में भी इंदिरा अम्मा भोजनालय की शुरुआत की गई है.

उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के साथ ही जिला नेनीताल में लगभग दो हजार करोड़ की विकास योजनाएं गतिमान हैं. ग्रेटर हल्द्वानी में अन्तरराष्ट्रीय स्टेडियम का निर्माण तेजी से हो रहा है, जिसका लोकार्पण इस महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि अन्तरराष्ट्रीय चिड़ियाघर भी विकास का एक अध्याय है, जिसका जल्द ही शिलान्यास होने जा रहा है. इस अवसर पर उन्होंने पुरस्कार पाने वाली ग्राम सभाओं को भी बधाई दी.

अपने सम्बोधन में विधायक सरिता आर्या ने सभी को स्थापना दिवस की शुभकानाएं दीं एवं शहीद आन्दोलनकारियों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि शहीदों के त्याग एवं बलिदान से हमें उत्तराखंड राज्य मिला है. उन्होंने कहा कि राज्य में विकास की दिशा में निरन्तर आगे बढ़ते हुए 16 वर्षों की यात्रा पूर्ण कर विकास की बुलन्दियों को छुआ है. वहीं विकास की किरणें हर गरीब के द्वार तक पहुंचाने के लिए सरकार निरन्तर प्रयासरत है.

अपने सम्बोधन में अध्यक्ष नगरपालिका श्याम नारायण ने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि हमें विकास कार्यों में कन्धे से कन्धा मिलाकर कार्य करना होगा, ताकि उत्तराखंड राज्य को एक आदर्श राज्य बना सकें.

समारोह को सम्बोधित करते हुए आयुक्त एवं सचिव स्वास्थ डी. सेंथिल पांडियन ने शुभकानाएं देते हुए कहा कि राज्य में विकास कार्यों के साथ ही स्वास्थ सेवाओं को बेहतर बनाया जा रहा है वहीं मुख्य मंत्री स्वास्थ बीमा योजना के माध्यम से गरीब आदमी को इलाज के लिए आर्थिक सहायता दी जा रही है.

उन्होंने बताया कि प्रदेश में पांच नर्सिंग ट्रेनिंग कॉलेज खोले जाने की भारत सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान कर दी गई है. शीघ्र ही नर्सिंग कॉलेज की स्थापना के लिए कार्यवाही प्रारम्भ की जा रही है. हल्द्वानी में भी नर्सिंग कॉलेज खोला जा रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की हमारी कन्या हमारा अभिमान, कन्याधन योजना, गौरादेवी कन्याधन योजना, नन्दादेवी योजना सहित गर्भवती महिलाओं के लिए पुष्टाहार योजना, 60 वर्ष से अधिक आयु वाली माताओं के लिए टेकहोम राशन, मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ यात्रा, बुजुर्गों के लिए निःशुल्क योजना को सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचाए जाने के लिए प्रशासनिक मशीनरी तत्पर तैयार हैं.

जिलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि उत्तराखंड राज्य को और विकसित करते के लिए छोटी-छोटी विकास योजनाएं तैयार करनी होंगी. हमें आशावादी होकर राज्य की विशेष परिस्थितियों के अनुसार कार्य करना होगा. डीएम रावत ने कहा कि उत्तराखंड का मनोहारी दृश्य, स्वच्छ आवोहवा, यहां की विशेषता है ऐसे में विकास कार्यों के प्रति लोगों की ग्राह्यता अधिक हैं. उन्होंने कहा कि समाज के गरीब तबके के लिए जो योजनाएं संचालित हैं. उनको विशिष्ठ शिविरों के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है.

कार्यक्रम में किसन लाल साह कौनी, मुकेश जोशी मंटू, राज्य आन्दोलनकारी मोहन पाठक, केएल आर्या, मनोज जोशी, रईस भाई, पान सिंह रौतेला, सुरेन्द्र सिंह नेगी, महेश जोशी, महेश पंत, नवीन चन्द्र उपे्रती, गिरीश चन्द्र जोशी, हरिशंकर कंसल, खष्टी बिष्ट, सरस्वती खेतवाल, मुन्नी तिवारी, सरवर खान, किरन साह, असीम बख्स, रेनू आर्या, डीएन भट्ट, महेश शर्मा, जेके शर्मा, पुष्कर मेहरा, त्रिभुवन फर्त्याल, पप्पू कर्नाटक, मारूतीनन्द साह, के अलावा मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र, अपर जिलाधिकारी जसवंत सिंह राठौर, जिला विकास अधिकारी डॉ. महेश कुमार के अलावा बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक व शहरवासी उपस्थित थे. इस अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा स्टॉल लगाए गए वहीं जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा मतदाता जागरुकता कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रयोगांक सोसायटी के माध्यम से नाटक प्रस्तुत किया गया.