सरकार की विफलताओं को छिपाने का राजनीतिक दिखावा है सब : प्रकाश करात

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता प्रकाश करात ने 500 और 1000 रुपये के नोटों के विमुद्रीकरण के केंद्र सरकार के निर्णय की आलोचना की. उन्होंने इसे ‘सरकार की विफलताओं से लोगों का ध्यान हटाने के लिए किया गया दिखावा बताया.’

माकपा नेता ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में संवाददाताओं से कहा, ‘सरकार की विफलताओं को छिपाने के लिए यह सिर्फ एक राजनीतिक दिखावा है.’

उन्होंने कहा, ‘इस निर्णय ने आम लोगों की जिंदगी में एक बड़ा व्यावधान उत्पन्न कर दिया है. मोदी सरकार ने काले धन पर ध्यान नहीं दिया है और उस पर रोक लगाने के लिए कुछ नहीं किया. रीयल स्टेट जैसे कुछ क्षेत्र हैं जो काले धन के स्रोत हैं.’