सपा रजत जयंती : अखिलेश बोले आपने हमें तलवार भेंट की है, तो हम इसका इस्तेमाल भी करेंगे

लखनऊ… समाजवादी पार्टी के 25 साल पूरे होने के मौक़े पर रजत जयंती समारोह चल रहा है. इस समारोह की शुरुआत में लालू यादव मंच पर एक साथ अखिलेश-शिवपाल को लेकर आए. अखिलेश और शिवपाल दोनों के हाथ में तलवार थी. लालू उनदोनों को मिलवाले की कोशिश कर रहे थे, वहीं चाचा शिवपाल यादव के पैर अखिलेश ने छुए. उस वक़्त मंच पर इनके साथ मुलायम सिंह यादव, शरद यादव, एचडी देवेगौड़ा, अजित सिंह और अभय चौटाला मौज़ूद थे. इसके बाद शिवपाल ने अपने भाषण में समाजवादी पार्टी के उत्थान में नेताजी के योगदान का ज़िक्र किया.

उधर शिवपाल यादव ने कहा कि वह नेताजी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकते. आगे उन्होंने अखिलेश को संबोधित कर कहा कि उन्होंने पार्टी और सरकार के लिए बहुत कुछ किया है और यहीं शिवपाल यादव ने इशारों में अखिलेश पर निशाना साधा और कहा कि कुछ लोगों को विरासत में मिल जाता है लेकिन जो लिया है मेहनत कर लिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी में कुछ घुसपैठिए घुस गए हैं. उनसे सावधान रहना होगा.

वहीं जब अखिलेश यादव ने माइक संभाला तो वह बोले- किसी को परीक्षा देने की जरूरत नहीं है, किसी को परीक्षा देनी है तो मैं तैयार हूं. उन्होंने कहा कि आप हमें तलवार भेंट कर रहे हैं, अब हम इसका इस्तेमाल कभी करेंगे. विचारधारा को बचाने के लिए तलवार चलानी जरूरी है. बहुत सी बातों का जवाब नहीं दूंगा लेकिन साढ़े चार साल के अंदर यूपी की सरकार ने अच्छा काम करके पूरे देश के सामने उदाहरण पेश किया है.

शिवपाल सिंह यादव ने कहा- मैं एसपी कार्यकर्ताओं को बताना चाहता हूं कि जितना त्याग लेना चाहो ले लो, मुझे मुख्यमंत्री नहीं बनना है. उन्होंने कहा कि यदि अखिलेश यादव खून मांगेंगे तो मैं खून दे दूंगा. इस अवसर पर लखनऊ में कई राजनीतिक दलों का जमावड़ा देखा जा रहा है. आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव, जेडीयू के शरद यादव, जनता दल सेक्यूलर के एचडी देवेगौड़ा लखनऊ पहुंच चुके हैं. आरएलडी के अजित सिंह और INLD के अभय चौटाला भी इसमें मौजूद हैं. चुनाव से पहले अंदरूनी झगड़ों के बुरे दौर से गुज़र रही सपा इस मौक़े को महागठबंधन को पुख़्ता करने की कोशिश के तौर पर भुनाना चाहेगी, ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं.

हाल के दिनों में इन सभी दलों से महागठबंधन की कोशिश भी तेज़ हुई ही है. हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने कहा कि हम अभी यहां रजत जयंती कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं. फिलहाल गठबंधन को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है. समारोह में पांच लाख लोगों के आने का दावा किया गया है. भीड़ को संभालने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं वहीं पूरा शहर सपा के पोस्टरों से पटा पड़ा है.

समारोह में शामिल होने आए लालू यादव ने कहा कि वह स्थापना समारोह में शुभकामनाएं देने आए हैं. उन्होंने कहा कि यहां फिर हमारी सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि बिहार की तरह यूपी से भी बीजेपी को खदेड़ने का मक़सद है. वहीं शरद यादव बोले कि हम लोगों को याद किया गया, इसलिए हम आए हैं.