हैपी बर्थडे कोहली : टीम इंडिया को मिला नायाब हीरा जो वक्त के साथ ‘विराट’ होता चला गया

टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली आज किसी भी परिचय के मोहताज नहीं हैं. प्रशंसक उनमें मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की छाप भी देखते हैं.

पिछले पांच सालों में क्रिकेट की एक नई शैली को जन्म देने वाले विराट का जन्म 5 नवंबर 1988 को दिल्ली में हुआ था. दाएं हाथ के स्टाइलिश बल्लेबाज विराट वनडे और टी20 में टीम इंडिया के उप-कप्तान भी हैं. विराट आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के भी कप्तान हैं.

दिल्ली से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले विराट ने 2006 में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया और 2008 में भारत की अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम की कप्तानी भी की. श्रीलंका के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत करने वाले विराट 2011 में विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे.

2011 में टेस्ट डेब्यू करने के बाद विराट ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. कोहली की कप्तानी में ही टीम टेस्ट में नंबर वन पर बनी हुई है. टी-20 में कोहली की सफलता का सबूत यही है कि 2014 और 2016 के आईसीसीस टी-20 विश्वकप में वह ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ रहे थे.

कोहली का खेल युवा खिलाड़ियों के लिए मिसाल है और खेल प्रेरणा. कोहली के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज हैं. वे वनडे में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी हैं. इसके अलावा कोहली वनडे में सबसे कम पारियों में 10 शतक और सबसे तेज 7,500 रन बनाने वाले खिलाड़ी भी हैं.

क्रिकेट के अलावा कोहली कई खेलों में अपनी दिलचस्पी दिखा चुके हैं. वह ISL (फुटबॉल) की टीम एफसी गोवा और आईपीटीएल में यूएई रॉयल्स के सह-मालिक भी हैं.