पौड़ी : बैजरों एक्सीडेंट में दो बेटों की मौत के गम में पिता ने भी तोड़ा दम

किसी अपने की मौत का सदमा बर्दाश्त करना हर किसी के बस में नहीं होती और अगर वह मौत एक साथ दो-दो बेटों की हो तो, ऐसे पिता के सिर पर तो मानो आसमान ही टूट पड़ता है. ऐसा ही हुआ जब एक पिता अपने दो बेटों की मौत का गम नहीं सह पाया.

पौड़ी जिले में मैक्स दुर्घटना में दो बेटों की मौत का सदमा उनके पिता बर्दाश्त नहीं कर पाए, तो केदारघाटी में पिता की अंत्येष्टि के दौरान मुखाग्नि देते वक्त पड़े दौरे से एक और बेटे की मौत हो गई. दोनों हादसों ने शोकाकुल परिजनों और रिश्तेदारों को भीतर तक हिला कर रख दिया.

पौड़ी जिले के बैजरों में गुरुवार को हुआ मैक्स हादसा बीरोंखाल ब्लॉक के बमराड़ी गांव निवासी बिहारीलाल के परिवार पर बहुत भारी गुजरा. बिहारीलाल के तीन बेटे थे. सड़क हादसे में सुनील कुमार (35) और अर्जुन कुमार (32) की मौत हो गई.

बैजरों : गहरी खाई में गिरी सवारियों से भरी मैक्स, 7 लोगों की मौत

गुरुवार को घटना के संबंध में उनके वृद्ध और बीमार पिता बिहारीलाल को नहीं बताया गया. शुक्रवार को जब उन्हें हादसे की जानकारी दी गई तो वे बेटों की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सके और उन्होंने घर पर ही दम तोड़ दिया.

pauri-accident

इसी तरह केदारघाटी के ल्वारा गांव में कुछ समय से बीमार चल रहे 81 वर्षीय वृद्ध श्याम लाल का बुधवार रात निधन हो गया था. बृहस्पतिवार को कुंड में मंदाकिनी नदी किनारे पैतृक घाट पर उनकी अंत्येष्टि की जा रही थी.

उनके पुत्र शिशुपाल लाल (51) जैसे ही चिता को मुखाग्नि देने लगे, उन्हें दिल का दौरा पड़ा और मौके पर ही उनकी मौत हो गई. गमगीन माहौल में पहले पिता और बाद में बेटे की भी अंत्येष्टि कर दी गई.