पढ़ें : उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव को लेकर क्या बोले CIC नसीम जैदी

मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी का कहना है कि निर्वाचन आयोग उत्तराखंड सहित देश के पांच राज्यों में निष्पक्ष और निर्भीक मतदान कराने को प्रतिबद्ध है.

दो दिवसीय दौरे पर अस्थायी राजधानी देहरादून पहुंचे मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने जहां राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बैठक कर चुनाव के समय को लेकर रायशुमारी की, वहीं मुख्य सचिव समेत आला अफसरों के साथ लंबी बैठक कर चुनाव तैयारियों की समीक्षा की.

समीक्षा बैठक के बाद मीडिया कर्मियों से रूबरू सीईसी जैदी ने कहा कि राजनीतिक दलों ने राज्य की भौगोलिक परिस्थितियों और मौसम को देखते हुए फरवरी के अंत और मार्च के पहले हफ्ते में पश्चिमी यूपी के साथ चुनाव कराने का अनुरोध किया. दलों की इस मांग पर आयोग की बैठक में विचार किया जाएगा.

राजनीतिक दलों ने यह बात भी उठाई कि सरकार द्वारा सरकारी धन का उपयोग राजनीतिक लाभ के लिए किया जा रहा है. होर्डिंग्स, बैनर लगाने में सरकारी धन का इस्तेमाल किया जा रहा है. धर्म और जाति के नाम पर अभी से ही वोट मांगे जा रहे हैं.

पार्टियों ने राज्य में जल्द से जल्द आदर्श आचार संहिता लागू करने की मांग की है. इसके साथ ही पेड न्यूज, दोहरे मतदाता, डमी कंडीडेट, मतदाता पर्ची पर पार्टी का चुनाव और प्रत्याशी का नाम लिखे जाने पर रोक लगाने की मांग की गई है.

इन सभी पहलुओं पर विचार कर निर्णय लिया जाएगा. सीईसी ने कहा कि अफसरों के साथ हुई बैठक में मुख्य सचिव से कहा गया है कि वे सरकारी धन के राजनीतिक इस्तेमाल पर अपने स्तर पर अंकुश लगाए. बताया कि लोकसभा चुनाव 2014 में वोटर वेरीफिएबल पेपर आडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) की सफलता को देखते हुए राज्य के कुछ चुनिंदा मतदान केंद्रों पर इसका इस्तेमाल किया जाएगा. उत्तराखंड पहला राज्य होगा, जहां इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार किया जाएगा.

सीईसी ने बताया कि उत्तराखंड में इस बार 80 फीसदी मतदान का लक्ष्य रखा गया है. जबकि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान मतदान का प्रतिशत 67 था. अधिक से अधिक लोग मतदान को आगे आएं, इसके लिए आयोग की ओर से जागरुकता अभियान के साथ ही कई अन्य कदम उठाए जा रहे हैं.

ताशी-नुंग्शी, कविता बिष्ट, मनीष सहित 210 युवा ब्रांड एंबेसडर
देहरादून की पर्वतारोही बहनें ताशी और नुंग्शी मलिक, एसिड हमले की पीड़िता कविता बिष्ट और ओलंपियन मनीष रावत सहित 210 प्रतिभाशाली युवाओं को राज्य निर्वाचन आयोग का ब्रांड एंबेसडर बनाया है.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी राधा रतूड़ी ने बताया कि राज्य के ज्यादा से ज्यादा युवाओं को मतदान केंद्रों तक लाया जा सके, इसके लिए सिस्टमेटिक वोटर एजूकेशन फॉर इलेक्टोरल पार्टिशिपेयशन (एसवीईईपी) के तहत 210 युवाओं को ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है.

इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा युवाओं को मतदाता सूची में शामिल किया जा सके, इसके लिए हर जिले में सहायता केंद्र खोले गए हैं. बता दें कि दो दिवसीय दौरे पर देहरादून पहुंचे मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने जनसंख्या के अनुपात में कम युवा मतदाताओं को लेकर चिंता जताई है.