केदारनाथ मंदिर के बंद कपाटों के सामने उमा भारती ने किया तप, पढ़ें क्यों?

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बुधवार को केदारनाथ मंदिर के ठीक सामने आधा घंटे तक तप किया. वह सुबह आठ बजे केदारनाथ में दो इंजन का हेलीकॉप्टर पहुंचने के बाद केदारनाथ से गुप्तकाशी हेलीपैड रवाना हुईं. इसके बाद उन्होंने गौरीकुंड का निरीक्षण कर त्रियुगीनारायण भगवान के दर्शन किए.

केदारनाथ के कपाट बंद होने से एक रोज पहले 31 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री उमा भारती बाबा केदार के दर्शनों को केदारनाथ पहुंची थीं. एक नवंबर को उनका वापस लौटने का कार्यक्रम था, लेकिन दो इंजन वाले हेलीकॉप्टर की व्यवस्था न होने से उन्हें केदारनाथ में ही रुकना पड़ा.

कपाट बंद होने के बाद भी अगले दिन सुबह साध्वी उमा भारती ने केदारनाथ मंदिर के सामने आधा घंटे तप किया. सुबह पौने आठ बजे दो इंजन वाला हेलीकॉप्टर केदारनाथ पहुंचा. इसके बाद वह केदारनाथ से इस हेलीकॉप्टर से रवाना होकर चारधाम हेलीपैड गुप्तकाशी पहुंची.

uma-bharti

वह कार्यक्रम के इतर गुप्तकाशी से गौरीकुंड के लिए रवाना हुई. यहां पहुंचने पर उन्होंने आपदा से क्षतिग्रस्त तप्त कुंड, गौरामाई मंदिर समेत कई कार्यों का निरीक्षण भी किया. उन्होंने लोगों से बातचीत कर कहा कि यहां भी नमामि गंगे के तहत कार्य किए जाएंगे. उन्होंने यहां के स्थानीय लोगों से सहयोग की अपेक्षा की है। इसके बाद केंद्रीय मंत्री उमा भारती शिव-पार्वती विवाह स्थल त्रियुगीनारायण के दर्शनों को पहुंची.