केदारनाथ के कपाट बंद, अब ओमकारेश्वर मंदिर में पूजे जाएंगे बाबा | यमुनोत्री यात्रा भी बंद

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले में स्थित यमुनोत्री मंदिरों के पवित्र कपाट विधि विधान के साथ सर्दियों लिए मंगलवार को बंद कर दिए गए. बता दें कि ये दोनों मंदिर यहां की प्रसिद्ध चारधाम यात्रा के दो प्रमुख मंदिर हैं.

बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ वी.डी. सिंह ने बताया कि केदारनाथ का भीतरी हिस्सा सुबह छह बजे और मुख्य द्वार साढे आठ बजे बंद कर दिया गया. इस मौके पर जल संसाधन मंत्री उमा भारती, मुख्यमंत्री हरीश रावत और पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के साथ वरिष्ठ प्रशासनिक और मंदिर कमेटी के अधिकारी मौजूद थे.

उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं और स्थानीय लोगों के साथ बाबा केदार को उत्सव डोली के जरिए उखीमठ के ओमकारेश्वर मंदिर ले जाया जा रहा है, जहां छह महीने के ठंड के दौरान बाबा की पूजा होगी.

मंदिर कमेटी के सीईओ ने बताया कि केदारनाथ से करीब 60 किलोमीटर दूर ओमकारेश्वर मंदिर में तीन नवंबर को बाबा का कारवां पहुंचने से पहले मंगलवार शाम रामपुर में और बुधवार को गुप्तकाशी में ठहरेगा.

उत्तरकाशी जिले में स्थित यमुनोत्री मंदिर को भी सर्दियों के लिए मंगलवार को बंद कर दिया गया. मंदिर समिति के एक अधिकारी ने कहा कि मंदिर का द्वार दोपहर सवा एक बजे बंद कर दिया गया.