बलूच आंदोलन को ‘नैतिक समर्थन’ देने के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया : नायला कादरी

एक प्रमुख बलूच नेता ने मंगलवार को कहा कि भारत की पिछली सरकारों ने पाकिस्तान से आजादी की लड़ाई लड़ रहे बलूच समुदाय के लोगों को निराश किया. उन्होंने अपने आंदोलन को ‘नैतिक समर्थन’ देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया.

वर्ल्ड बलूच फोरम की अध्यक्ष नायला कादरी ने मुंबई में बताया, ‘हम भारत की पिछली सरकारों से निराश थे, लेकिन बलूचिस्तान की आजादी की लड़ाई को अपना नैतिक समर्थन देने के लिए मैं मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा करती हूं.’ गौरतलब है कि पीएम मोदी ने इस साल स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में बलूचिस्तान में पाकिस्तान की ओर से मानवाधिकार हनन का मुद्दा उठाया था.

मुंबई प्रेस क्लब में एक परिचर्चा में कादरी ने कहा, ‘हम आजादी के लिए सशस्त्र संघर्ष सहित संघर्षों के सभी स्वरूपों का इस्तेमाल कर रहे हैं.’ कादरी ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान बलूचों के खिलाफ रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है, महिलाओं को अगवा कर रहा है और बच्चों की हत्या कर रहा है.

उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान में चीन के प्रवेश के बाद उत्पीड़न बढ़ गए हैं. चीन इस क्षेत्र में आधारभूत संरचना संबंधी परियोजनाएं विकसित करने में जुटा है.

कादरी ने कहा, ‘हम पाकिस्तानी नहीं हैं, हम यह जानते हैं. संयुक्त राष्ट्र उस वक्त कहां था जब पाकिस्तान ने बलूचिस्तान पर आक्रमण किया?’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान यह दावा नहीं कर सकता कि बलूचिस्तान में उग्रवाद उसका अंदरूनी मामला है.