हरिद्वार : राजकीय सम्मान के साथ किया गया शहीद संदीप रावत का अंतिम संस्कार

जम्मू-कश्मीर के तंगधार सेक्टर में नियंत्रण रेखा के समीप घुसपैठ की कोशिश नाकाम करने के दौरान शहीद हुए राइफलमैन संदीप कुमार रावत के शव का शनिवार को हरिद्वार में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया.

मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में बड़ी संख्या में गणमान्य लोगों ने शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की. संदीप का शव शनिवार सुबह ही यहां पहुंचा.

संदीप के शव पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद रावत ने कहा, ‘मैं बहादुर पिता के बहादुर बेटे की शहादत को सलाम करता हूं. आजकल कोई भी दिन ऐसा नहीं बीत रहा, जब कोई मां देश के लिए अपना बेटा नहीं खो रही. ये सभी बलिदान देश के लिए है.’

शहीद संदीप के पिता भी देश की सेवा कर चुके हैं. संदीप पिछले वर्ष जनवरी में ही सेना के छठे गढ़वाल राइफल्स से जुड़े थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा देश और राज्य दुख की इस घड़ी में शहीद के परिजन के साथ है.

हरीश रावत ने कहा, ‘मेरे ख्याल से यह समय आतंकवाद और पाकिस्तान के खिलाफ निर्णायक युद्ध छेड़ने का है.’ पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, राज्य बीजेपी अध्यक्ष अजय भट्ट और पार्टी महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल ने भी शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की.

शहर के नवादा स्थित घर पर तिरंगे में लिपटे ताबूत में संदीप के शव के पहुंचने की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर आ गए.

शहीद के शव को इसके बाद हरिद्वार ले जाया गया और खड़खड़ी श्मशान में पुलिस के गार्ड ऑफ ऑनर के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया.

तंगधार में नियंत्रण रेखा के समीप घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते समय गुरुवार को संदीप को गोलियां लग गई थी.