महाराष्ट्र : औरंगाबाद शहर के पटाखा बाजार में भीषण आग से 50 वाहन जल के खाख, 2 लोग लापता

सांकेतिक फोटो

महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में एक अस्थाई पटाखा बाजार में शनिवार सुबह भीषण आग लग गई, जिसमें करीब 200 बड़ी और छोटी दुकानें और करीब 50 वाहन जल कर खाक हो गए. अधिकारियों के मुताबिक, एक दर्जन लोगों के मामूली रूप से जख्मी होने के अलावा आग से कोई हताहत नहीं हुआ है, क्योंकि सभी दुकानदार और ग्राहक बाजार से सुरक्षित निकलने में सफल रहे. हालांकि कई घंटों के बाद कहा गया कि दो लोग लापता हैं, जिन्हें खोजने के प्रयास जारी हैं.

आसपास के क्षेत्र में खड़े एक दर्जन चार पहिया, 10 ऑटो रिक्शा और दो दर्जन दुपहिया वाहन आग की चपेट में आ गए और नष्ट हो गए.

अधिकारियों ने कहा कि जिला परिषद मैदान में लगे औरंगपुरा वार्षिक दिवाली पटाखा बाजार में आग लगने की यह घटना घटी. प्रारंभिक जांच में आग की घटना के पीछे बाजार के मध्य स्थित दो दुकानों में शॉट सर्किट होने का संदेह जताया गया.

तेज आवाज, सभी दिशाओं में उड़ रहे रॉकेटों और अन्य पटाखों के जलने के साथ आग तेजी से फैल गई और पूरे बाजार को अपने आगोश में ले लिया, जहां दुकानें एक-दूसरे से सटी हुई थीं.

प्रत्यदर्शियों ने कहा कि आकाश में काले घने और जहरीले धुएं के गुबार कई किलोमीटर दूर से देखे जा सकते थे, जबकि जान बचाने के लिए घबराए दुकानदार और ग्राहक बेतहाशा भाग रहे थे.

जिला परिषद मैदान के आसपास रहने वाले सैकड़ों लोग अपने-अपने घरों से निकल कर बाहर भागे, जबकि अग्निशमन दल को भी आग बुझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. करीब चार घंटे तक प्रयास करने के बाद आग पर काबू पाया गया.

स्थनीय आकलन के अनुसार, आग से कई करोड़ रुपये मूल्य के पटाखा भंडार और अन्य सामानों की क्षति हुई है.

औरंगाबाद से शिव सेना सांसद चंद्रकांत खरे ने घटना स्थल का दौरा किया और घोषणा की कि जिन व्यापारियों को क्षति हुई हुई है, उन्हें क्षतिपूर्ति दी जाएगी.