देहरादून पहुंची साइना नेहवाल ने कहा, ‘देश में अर्जुन नहीं द्रोणाचार्यों की कमी’

भारतीय बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल का कहना है कि देश में अर्जुन नहीं, बल्कि उन्हें तराशने वाले द्रोणाचार्यों की कमी है. एक खिलाड़ी के हुनर के बारे में उसके कोच से बेहतर कोई नहीं जानता. इसलिए बैडमिंटन में अच्छे प्रशिक्षकों के साथ ही सहायक स्टॉफ की भूमिका को मजबूत करना होगा.

उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में इकोल ग्लोबल इंटरनेशनल स्कूल के वार्षिक उत्सव में शिरकत के दौरान साइना नेहवाल पत्रकारों से रूबरू हुई. उन्होंने कहा कि देश में क्रिकेट के बाद बैडमिंटन की लोकप्रियता है. देश के उत्तरी भाग में गजब की प्रतिभा है. वे दक्षिण के खिलाडिय़ों को अच्छी टक्कर देते हैं.

इसके बावजूद इस हिस्से से बेहतर परिणाम न आ पाना चिंता का विषय है. यहां प्रतिभाओं को निखारने के लिए बेहतर प्रशिक्षक व फिजियो की जरूरत है. दक्षिण में गोपीचंद व प्रकाश पादुकोण अकेडमी बैडमिंटन के क्षेत्र में अच्छा काम कर रही हैं, वहां से निकलने वाले कई खिलाडिय़ों ने देश का मान बढ़ाया है.

देहरादून की खूबसूरती पर मोहित साइना ने कहा कि यहां की खूबसूरती दुनिया में विख्यात है. उन्होंने कहा, इससे पहले वह साल 2007 में एक ऑल इंडिया स्तर के टूर्नामेंट में हिस्सा लेने दून आई थी. यहां आकर अच्छा लगता है. इस दौरान स्कूल के प्रबंधक तरुणजोत जुनेजा भी मौजूद थे.

चोट से उभरकर साइना कोर्ट पर वापसी को तैयार हैं. उन्होंने बताया कि चार महीने इंतजार के बाद नवंबर से चाइना ओपन व हांगकांग ओपन से वापसी करेंगी. हालांकि अभी फिजियो ने क्लीन चिट नहीं दी है, लेकिन उन्होंने प्रैक्टिस शुरू कर दी है. इंटरनेशनल ओलंपिक समिति के एथलीट आयोग की सदस्य साइना ने बताया कि चोट के कारण वह आयोग की मीटिंग में हिस्सा नहीं ले पा रही थीं, लेकिन अब नियमित रुप से मीटिंग में हिस्सा लेंगी.

दुनिया की नंबर वन व ओलंपिक गोल्ड मेडल विजेता स्पेन की केरोलिना मरीन के बारे में साइना ने कहा कि पिछले कुछ समय में उन्होंने अपने खेल में परिवर्तन किया है. केरोलिना ने अपनी एकाग्रता व आक्रामकता पर बहुत काम किया है. फिलहाल उन्हें कोर्ट पर पकड़ पाना बहुत मुश्किल है.

लंबे समय तक गोपीचंद से प्रशिक्षण लेने वाली साइना अब विमल कुमार से प्रशिक्षण ले रही हैं. इस बारे में उन्होंने बताया कि लगातार एक जैसा प्रशिक्षण लेने के बाद उन्हें बदलाव की जरूरत पड़ी. क्योंकि, खेल में भी ज्यादा सुधार नहीं हो रहा था.

साइना ने उत्तराखंड के खिलाड़ी लक्ष्य सेन की भी जमकर तारीफ की. कहा कि लगातार उनका खेल बेहतर होता जा रहा है. उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में वह देश की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे.