उत्तराखंड में सर्किल रेट बढ़ाने वाली है सरकार, जल्द से जल्द रजिस्ट्री करवा लें!

देवभूमि में घर बनाने का सपना देख रहे हैं, तो अपने सपने को साकार करने के लिए आपके पास सिर्फ दो महीने हैं. अगर सपना देख रहे हैं तो बता दें कि दो महीने बाद आपका यह सपना काफी महंगा हो सकता है, क्योंकि दो महीने बाद यानी जनवरी में सरकार सर्किल रेट बढ़ाने की तैयारी कर रही है.

राज्य सरकार एक बार फिर अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए सर्किल रेटों में इजाफा कर सकती है. एक जनवरी से राज्य में नए सर्किल रेट लागू किए जा सकते हैं. इसके लिए सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को चिट्ठी लिखकर 30 नवंबर तक सर्किल रेट में संशोधन के प्रस्ताव मांगे गए हैं.

अगर आप अपने सपनों का घर बनाने के लिए जमीन खरीदने की सोच रहें है तो बता दें कि अपनी जेब से ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. क्योंकि एक बार फिर राज्य सरकार ने सर्किल रेट में इजाफा करने का मन बना लिया है. इसके लिए वित्त सचिव अमित नेगी ने सभी जिलाधिकारियो को पत्र भेज कर 30 नवंबर तक सर्किल रेट में संशोधन का प्रस्ताव मांगा गया है. बताया गया है कि एक जनवरी से राज्य में बढ़े हुए नए सर्किल रेट लागू किए जा सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक पिछले 6 महीनों में स्टांप ड्यूटी से हो मिल रहा राजस्व घटकर 23 फीसदी से 8 फीसदी तक ही सिमट गया. वेतन, भत्ते, पेंशन का जिस तरह से सरकार पर बोझ बढ़ रहा है, उसके उलट इनकम में इजाफा न होना सरकार के लिए सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई है.

आपको बता दें कि इसी साल 2016 में जनवरी महीने में सरकार ने सर्किल रेट में इजाफा किया था. लेकिन कुछ ही महीने के बाद सरकार ने सर्किल रेट कम करने का फैसला लिया था. सोचा गया था कि सर्किल रेट कम करने से जमीनों की खरीद फरोख्त में इजाफा होने से स्टांप ड्यूटी के मिलने वाले राजस्व में इजाफा होगा, लेकिन ऐसा हो न सका. यही वजह है कि एक बार फिर सरकार ने सर्किल रेट में इजाफा करने मन बना लिया है.