बाजपुर : फर्जी सीबीआई अधिकारी बनकर छापा मारने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात लोग गिरफ्तार

बाजपुर में एक स्टोन क्रशर पर फर्जी सीबीआई बनकर कुछ लोगों ने मारा छापा. गिरोह के सदस्यों ने क्रशर कार्यालय में गाली गलौज कर एक लाख रुपये की डिमांड कर धमकी दी. जिससे क्रशर पर खलबली मच गई. पुलिस ने फर्जी सीबीआई गिरोह के सात सदस्यों को दबोचकर उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस के अनुसार सोमवार देर शाम गांव फोजी कॉलोनी स्थित एलएससी स्टोन क्रशर पर जिप्सी में सात लोग सवार होकर आ धमके. उन्होंने खुद को सीबीआई अफसर से बताया. क्रशर कार्यालय में जांच करने की बात कही. एक व्यक्ति अपने को बॉस बता रहा था.

कुछ देर बाद फर्जी सीबीआई गिरोह ने एकाउंटेंट से धमकी भरे शब्दों में मैनेजर को बुलाने को कहा. नहीं तो स्टोन क्रशर सीज कर देंगे. फर्जी सीबीआई गिरोह ने एकाउंटेंट से एक लाख रुपये की डिमांड की.

मंगलवार को रकम की व्यवस्था रखने की धमकी देकर चले गए. क्रशर प्रबंध तंत्र ने तत्काल घटना की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने जिप्सी को मेन रोड पर पकड़ लिया. जिप्सी सात लोग सवार थे.

उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस ने गहनता पूर्वक पूछताछ शुरू कर दी. इस मामले में एलएससी क्रशर के एकाउंटेंट अजय सिंह ने कोतवाली में जिप्सी में सवार होकर आए सात लोगों पर फर्जी तरीके से सीबीआई बनकर जांच करने और इस दौरान गाली गलौज, धमकी देने और एक लाख रुपये की डिमांड करने का आरोप लगाया है.

पुलिस क्षेत्राधिकारी जीसी टम्टा ने बताया कि फर्जी सीआईडी बनकर उद्योपतियों से मोटी रकम ऐंठने का एक गिरोह पुलिस ने पकड़ा है. गिरोह में शामिल अन्य लोगों की तलाश में पुलिस जुटी है.

गिरोह के पास से मिली जिप्सी यूपी के बरेली निवासी की बताई जा रही है. इससे पहले काशीपुर सहित अन्य स्थानों से मोटी रकम ऐंठ चुके हैं. मामले की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है.

उन्होंने बताया कि स्टोन क्रशर एकाउंटेंट अजय सिंह की शिकायत पर पुलिस ने जसवीर सिंह निवासी गांव बहादुरगंज बाजपुर, बलविंदर सिंह निवासी खाईखेड़ा काशीपुर, सुधीर कुमार निवासी गदरपुर, सोमचंद निवासी गणेशपुर केलाखेड़ा, चंद्रभान निवासी बरबाला केलाखेड़ा, पंकज कुमार निवासी गांव दौलतगंज गदरपुर के खिलाफ धारा 384, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

इधर पकड़े गए जसवीर सिंह ने बताया कि वे सीआईडीबी नाम से एक एनजीओ चलाते हैं. बढ़ रही दुर्घटनाओं के बारे में स्टोन क्रशर पर जानकारी और जांच करने आए थे.