हरिद्वार : सरबजीत सिंह के जीजा की मौत, धोखाधड़ी के मामले में जेल में बंद था बलदेव सिंह

पाकिस्तान की कैद में मारे गए सरबजीत सिंह के जीजा डेढ़ साल से हरिद्वार की जिला जेल में कैद थे. सरबजीत सिंह के जीजा बलदेव सिंह की रविवार को अचानक तबियत बिगड़ने से मौत हो गई. सिडकुल पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव उनके बेटे को सौंप दिया है.

मूल रूप से पंजाब के गांव मनन चवाल, जिला तरणतारण, अमृतसर के रहने वाले 66 वर्षीय बलदेव सिंह के खिलाफ साल 2002 में कोतवाली ज्वालापुर में भूमि संबंधी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था.

उस समय जेल गए बदलेव सिंह को जमानत मिल गई थी. पिछले साल जमानत खत्म होने के बाद जुलाई में बलदेव सिंह को फिर जेल जाना पड़ा था. इस वर्ष जून में बलदेव सिंह की पत्नी दलबीर कौर ने पति एवं उनकी कथित पत्नी सविंद्र के खिलाफ भूमि की धोखाधड़ी संबंधी मुकदमा दर्ज कराया था. आरोप था कि पति ने सविंद्र कौर को अपनी पत्नी दिखाकर जमीन में धोखाधड़ी की है.

जेल में बंद बलदेव सिंह की शनिवार देर रात उस वक्त तबियत बिगड़ गई जब वे बैरक में बने शौचालय में शौच करने गए थे. कैदियों ने उन्हें बेहोश देखा तो जेल प्रबंधन को सूचना दी. फौरन उन्हें जेल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से गंभीर हालत देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया. लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी.