चारों धामों तक पहुंचेगी रेल, 44 हजार करोड़ की लागत का अनुमान | स्टडी रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को सौंपी गई

मसूरी में उत्तर रेलवे के ओक ग्रोव स्कूल का 128वां एथलीट मीट का आयोजन हुआ, जिसमें उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक ए.के. पुठिया भी पहुंचे. इस एथलीट मीट में उन्होंने छात्र-छात्राओं को पुरुस्कृत किया.

इस मौके पर ए.के. पुठिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केंद्र सरकार उत्तराखंड की पवित्र चार धाम यात्रा को रेल सेवा से जोड़ने के लिए गंभीर है. उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक ने कहा कि चार धाम यात्रा को रेल सेवा से जोड़ने के लिए रेल विकास निगम लिमिटेड ने अपनी प्रारंभिक स्टडी रिर्पोट रेलवे बोर्ड को सौंप दी है.

रिर्पोट में चारधाम यात्रा को रेल सेवा से जोड़ने के लिए करीब 44 हजार करोड़ के खर्च होने का अनुमान लगाया भी गया है. उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक ने कहा कि स्टडी रिर्पोट रेलवे बोर्ड को मिल गई है. रेलवे बोर्ड की स्वीकृति मिलने के बाद से चार धाम यात्रा को रेल सेवा से जोड़ने के लिए आगे की कार्रवाई शुरू होगी.

ए.के. पुठिया ने कहा कि उत्तराखंड में रेल सेवा के विस्तार के लिए रेलवे बोर्ड गंभीरता से कोशिश कर रहा है. अस्थायी राजधानी देहरादून सहित सभी रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधा बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है. साथ ही देहरादून तक लंबी दूरी की ट्रेन चलाने के लिए तेजी से कोशिशशें की जा रही हैं.