उप्र : शिवपाल सहित 4 मंत्री बर्खास्त, सपा का संकट गहराया

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) में जारी सियासी घमासान के बीच रविवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने चाचा व वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया. तीन अन्य मंत्रियों को भी सरकार से बाहर कर दिया गया. मुख्यमंत्री ने यह फैसला अपने आधिकारिक आवास पर मंत्रियों, विधायकों और विधान परिषद के सदस्यों की बैठक में लिया. उन्होंने मंत्रियों की बर्खास्तगी का पत्र राजभवन भेज दिया.

सपा सूत्रों के अनुसार, बैठक में मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि जो भी अमर सिंह के साथ हैं, वे हटाए जाएंगे.

अखिलेश यादव ने बैठक में शिवपाल सिंह यादव के साथ ही पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, खादी मंत्री नारद राय व एक अन्य मंत्री शादाब फातिमा को भी बर्खास्त किया. इन सभी को अमर सिंह का करीबी माना जाता है.

वहीं, सूत्रों के अनुसार, छह मंत्रियों को बर्खास्त किया गया है, जिनमें मदन चौहान व गायत्री प्रजापति भी शामिल हैं. अमर सिंह की करीबी जयाप्रदा को भी फिल्म विकास परिषद की उपाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया है.

सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान मुख्यमंत्री ने बेहद भावुक बयान दिया. उन्होंने कहा, ‘नेताजी (मुलायम सिंह यादव) मेरे पिता हैं. मैं हमेशा उनकी सेवा करूंगा.’

मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा कि वह पार्टी नहीं तोड़ेंगे, साथ रहेंगे. लेकिन साजिश करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे. रथ चलेगा, कार्यक्रम में जाएंगे.

उन्होंने साफ कहा कि वह नेता जी के जन्मदिन से पहले उन्हें एक्सप्रेस-वे का गिफ्ट देने जा रहे हैं. 21 नवंबर को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उद्घाटन होगा.

सूत्रों के अनुसार, हालांकि उन्होंने अमर सिंह के बारे में सख्त लहजे में कहा कि अमर सिंह ने घर में आग लगाई है, उन पर कार्रवाई होगी.

गौरतलब है कि राजभवन से जिन मंत्रियों की बर्खास्तगी की सूची जारी की गई है, उसमें शिवपाल यादव, शादाब फातिमा, ओम प्रकाश सिंह और नारद राय का नाम शामिल हैं. वहीं, सपा सूत्रों का कहना है कि अखिलेश ने जो पहली सूची राजभवन भेजी थी, उसमें इन चारों मंत्रियों के नाम शामिल हैं, लेकिन बाद में उन्होंने दूसरी सूची राज्यपाल को भेजी, जिसमें मंत्री मदन चौहान व गायत्री प्रजापति को भी बर्खास्त कर दिया गया.