श्रीनगर गढ़वाल : सड़क पर बिछ रही ‘भ्रष्टाचार की परत’, कुछ ही घंटों में उखड़ रही सड़क

पौड़ी जिले में श्रीनगर के आतंरिक क्षेत्रों में 8 करोड़ की लागत से बनायी जा रही सड़कों का निर्माण मानकों को ताक पर रखकर किया जा रहा है. सड़कें ऐसी बन रही हैं जो एक बारिश तो क्या एक दिन भी नहीं टिक रहीं.

गुरुद्वारा रोड पर शिशु मंदिर स्कूल के पास एडीबी द्वारा बनाई जा रही सड़क, निर्माण के कुछ घंटों बाद ही उखड़ गई. साल 2013 की आपदा में क्षतिग्रस्त शहर की आतंरिक सड़कों का निर्माण कुछ समय पहले ही शुरू किया गया था, लेकिन सड़कों के निर्माण शुरू होने के साथ ही मानकों को हाशिये पर रख दिया गया.

स्थानीय विधायक और संसदीय सचिव गणेश गोदियाल ने 2 महीने पहले शहर की आंतरिक सड़कों के निर्माण कार्यों की शुरुआत की थी. बहरहाल देर रात एडीबी द्वारा ठंड में बनाई गई सड़क का आलम यह है कि कुछ घंटों बाद ही जरा सा चलने पर सड़क पर बिछाया गया डामर जगह-जगह से उखड़ने लगा.

मामले की जानकारी मिलते ही स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मौके पर ही धरना देकर स्थानीय विधायक और विभाग के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. वे तख्तियां लेकर सड़क पर ही धरने पर बैठ गए. भाजपाइयों ने स्थानीय विधायक और कांग्रेस सरकार पर कमीशनखोरी का आरोप लगाकर आम जनता के पैसे को ठिकाने लगाने का आरोप भी लगाया.

मौके पर पहुंचे स्थानीय प्रशासन ने भी सड़क निर्माण को घटिया करार दिया. तहसीलदार चौधरी वेदपाल सिंह ने सड़क का निरीक्षण कर कहा कि पहली नजर में सड़क को देखकर लग रहा है कि निर्माण ठीक से नहीं हुआ है और इस बारे में संबंधित विभागीय अधिकारियों से बारे में कहने के साथ दोषियों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

भाजपाइयों ने सड़क निर्माण में घपले की जांच की मांग करते हुए दोषियों पर कार्यवाही की मांग की है. बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश सचिव सूरज घिल्डियाल और बीजेपी कार्यकर्ता जयवल्लभ पंत और अनूप बहुगुणा का कहना है कि यह सब भ्रष्टाचार का ही नमूना है.

भाजपाइयों ने सवाल उठाया कि आखिरकार आनन-फानन में देर रात सड़क निर्माण का क्या औचित्य है. उन्होंने सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि मानकों को ताक पर रख कर किए जा रहे सड़क निर्माण के पीछे अपने लोगों को चुनावी साल होने के कारण फायदा पहुंचाए जाने के चलते ये सब कुछ किया जा रहा है.