हिज्बुल की अपील पर कश्मीरी पंडितों ने कहा, अपनी शर्तों पर घाटी में लौटेंगे

आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर जाकिर राशिद भट्ट की ओर से कश्मीरी पंडितों से घाटी में लौटने के लिए कहे जाने के एक दिन बाद समुदाय के प्रतिनिधियों ने गुरुवार को उसकी इस अपील को खारिज कर दिया और कहा कि वे अपने हिसाब से समय का चुनाव करके कश्मीर लौटेंगे.

‘कश्मीरी पंडित कांफ्रेंस’ (केपीसी) के प्रमुख कुंदन कश्मीरी ने कहा, ‘हम उसकी पेशकश को सिरे से खारिज करते हैं, क्योंकि कश्मीर का ऐतिहासिक रूप से ताल्लुक कश्मीरी पंडितों से है तथा वे अलगाववादियों और आतंकवादियों अथवा सीमा पार बैठे उनके आकाओं द्वारा तय एजेंडे पर नहीं लौंटेंगे.’

उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडित समुदाय अपनी शर्तों और हालात तथा अपने द्वारा चुने गए समय के हिसाब से घाटी लौटेगा. कुंदन कश्मीरी ने कहा कि हिज्बुल कमांडर एक तरफ दुनिया को यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि पाकिस्तान समर्थक आतंकी समूह धर्मनिरपेक्ष हैं तथा दूसरी तरफ वह अलगाववादियों और पथराव करने वालों को एक मौका देने का प्रयास कर रहा है कि वे लौटने वाले पंडितों पर फिर हमले कर सकें.