सावधान! 5 बैंकों के 32 लाख ATM कार्ड का डाटा चोरी, पढ़ें कहीं आपका बैंक भी तो नहीं इनमें

देशभर में करीब 32 लाख एटीएम के पिन चोरी होने की आशंका है. जानकारी के मुताबिक मालवेयर वाले एटीएम मशीन से पैसे निकालने की वजह से ये पिन चोरी हुए हैं. जिन बैंकों के ग्राहकों के डाटा चोरी हुआ है उनमें SBI, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, येस बैंक और एक्सिस बैंक शामिल हैं.

खबर के मुताबिक कार्ड नेटवर्क कंपनियों नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI), मास्टरकार्ड और वीजा ने भारत के तमाम बैंकों को इसकी सूचना दी है कि कुछ कार्ड्स की जानकारी चोरी हुई हैं.

आरबीआई इस पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है. आरबीआई ने वीजा और मास्टरकार्ड को निर्देश दिए हैं कि वे ग्राहकों को हुए घाटे की भरपाई करे.

हालांकि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने 6 लाख ग्राहकों को दोबारा डेबिट कार्ड इश्यू करने का फैसला लिया है, उधर दूसरे बैंक लगातार अपने गार्हकों से एटीएम पिन बदलने के लिए कह रहे हैं. इतना ही नहीं दूसरे बैंक ऐसे इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन को भी ब्लॉक कर रहे हैं जो बिना पिन के हो रहा है.

यह सब डाटा कहां से चोरी हुआ है, इसकी जांच फिलहाल चल रही है. लेकिन खबरों के मुताबिक उन लोगों के पिन चोरी हुए हैं जो हिटाची पेमेंट सर्विस से जुड़े एटीएम का इस्तेमाल कर रहे हैं. बता दें कि हिटाची पेमेंट सर्विस येस बैंक के लिए ATM नेटवर्क चलाती है. यह मामला इस साल जुलाई महीने में ही सामने आया था. लेकिन बैंक का कहना है कि उसके एटीएम नेटवर्क में किसी तरह की परेशानी नहीं है. वह अपने ग्राहकों की निजी जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए काम कर रहे हैं.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने बुधवार को अपने लगभग 6 लाख यूजर्स के एटीएम ब्लॉक कर दिए, क्योंकि बैंक को एक थर्ड पार्टी एटीएम से आए वायरस से अपनी सुरक्षा में सेंध लगने का खतरा है. कस्टमर्स की सुरक्षा के लिहाज से बैंक मैसेज के जरिए लगातार चेतावनी दे रहा है. अब जिन लोगों के एटीएम ब्लॉक हुए हैं, उन्हें दोबारा कार्ड के लिए अप्लाई करना होगा, लेकिन इसके लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा.