रीता बहुगुणा के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें, सरिता आर्या बोलीं- ‘कुत्ता भी घर छोड़ता है तो दुख होता है’

कुछ साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उनसे गुजरात दंगों के संबंध में सवाल पूछा गया था कि क्या उन्हें उस नरसंहार पर अफसोस है. इस प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा था कि एक कुत्ते का बच्चा भी गाड़ी के नीचे आ जाए दो दुख होता है. इस बयान पर उस वक्त कांग्रेस व विपक्षी पार्टियों ने जमकर हंगामा काटा था, लेकिन अब एक बड़ी कांग्रेस नेता ने भी वैसा ही बयान दे डाला.

बीजेपी नेता विजय बहुगुणा की बहन और वरिष्ठ कांग्रेस नेता रीता बहुगुणा जोशी के बीजेपी में जाने की चर्चाओं के बीच उत्तराखंड महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरिता आर्य ने दिया विवादित बयान. उन्होंने कहा, जब कुत्ता भी घर छोड़कर जाता है तो दुख होता है.

पिछले कुछ सालों से राजनीति में शब्दों के बाण कुछ ज्यादे ही तीखे होते जा रहे हैं. नेता भूल जाते हैं कि वे क्या कह रहे हैं और इसके क्या मायने हो सकते हैं, कांग्रेस की महिला अध्यक्ष भी कुछ ऐसा ही बोल गई.

असल में चर्चा जोरों पर है कि उत्तर प्रदेश कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और उत्तराखंड बीजेपी नेता विजय बहुगुणा की बहन रीता बहुगुणा जोशी बीजेपी में शामिल होने जा रही हैं. इस मामले पर जब उत्तराखंड महिला कांग्रेस अध्यक्ष से मीडिया ने सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि कुत्ता भी घर छोड़कर जाता है तो दुख होता है.

हांलाकि उन्हें जल्द ही अपनी गलती का ऐहसास भी हो गया और फिर सरिता आर्य ने कहा कि रीता हमारी पुरानी साथी रही हैं. उनके जाने का अफसोस तो होगा ही, लेकिन उनके भाई विजय बहुगुणा भी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जा चुके हैं. ऐसे में इस बात की उम्मीद पहले से थी कि देर-सबेर वे भी अपने भाई के पीछे चली जाएंगी.

उन्होंने कहा, विजय बहुगुणा ने तो यह भी नहीं सोचा की हेमवती नंदन बहुगुणा जी ने लाख चुनौतियों के बावजूद कांग्रेस का दामन नहीं छोड़ा. अब भाई बहन उनके पद चिन्ह पर नहीं चल पा रहे हैं.