कोश्यारी ने की केन्द्रपोषित योजनाओं की समीक्षा | जारी किए दिशा निर्देश

सर्किट हाउस काठगोदाम में सांसद भगत सिह कोश्यारी की अध्यक्षता में जिला विकास एवं निगरानी समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक को सम्बोधित करते हुये श्री कोश्यारी ने कहा कि सभी अधिकारी केन्द्र पेाषित योजनाओं में कार्य प्रगति लाकर समयबद्ध तरीके से कार्य करें तथा प्राप्त धनराशि का सदुपयोग करें। उन्होने केन्द्रपोषित योजनाओं मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना, स्वच्छ भारत मिशन, इन्दिरा आवास, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, राष्ट्रीय सहायता कार्यक्रम, आईडब्लूएपी, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना व समाज कल्याण द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की समीक्षा की।

श्री कोश्यारी ने कहा कि केन्द्र पोषित योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास केन्द्रीय मंत्री अथवा सांसदो से ही कराया जाए। उन्होने कहा कि योजनाओ के अन्तर्गत स्थायी कार्य किये जाये। कार्यो में गुणवत्ता व समयबद्धता पर अधिकारी अवश्य ध्यान देें। उन्होने कहा कि सडक की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए, ताकि सडकें अधिक समय तक चले। उन्होने मरनेगा के अन्तर्गत चाल-खाल बनाने के साथ ही नौलों एव जलस्रोत्रों आदि पर कार्य करने की सलाह दी। ताकि एक ओर जहां जानवरो को चालखाल द्वारा पानी उपलब्ध होगा वही जमीन का जलस्तर भी बढेगा। उन्होने कहा कि अधिकारी योजनाओ के अन्तर्गत  ऐसे कार्य चयनित करें जो एक वर्ष के अन्दर पूर्ण हांें जो धरातल पर दिखायी दें व जनता को त्वरित लाभ मिल सके। उन्होने स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा करते हुये जनपद को शीघ्र खुला शौचमुक्त करने के निर्देश भी दिये, साथ ही उन्होने कहा कि पुराने शौचालयों की भी मरम्मत करायी जाए। उन्होने मेरा गांव मेरी सडक योजना के अन्तर्गत कार्यो मे तेजी लाकर गांवो को मुख्यमार्गो से जोडने को कहा।

उन्होने प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के अन्तर्गत काश्तकारों की भूमि मुआवजा शीघ्र देने, तथा सडक निर्माण से ध्वस्त पेयजल लाईनों, सिचाई नहरों, गूलों आदि की शीघ्र मरम्मत कराने के निेर्देश दिये। उन्होने सडकों के निर्माण में काश्तकारों की कट रही जमीनो की शीघ्र पैमाईश कराकर उन्हे भुगतान करा जाए। उन्होने कहा कि अधिकारी व जनप्रतिनिधि आपसी समन्वय से कार्य करें तथा क्षेत्रों में आ रही समस्याओ का मिलकर निराकरण करें। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार से सम्बन्धित समस्याओं से समय-समय पर उन्हे अवगत कराये तथा जो भी योजनाओं के प्रस्ताव भारत सरकार को भेजे जाते है, उन्हे भी प्रस्ताव/आगणन की प्रति उपलब्ध करायें ताकि वे भी भारत सरकार स्तर पर स्वयं वार्ता कर सकें।

उन्होने कहा कि 250 तक की जनसंख्या वाले गांवो को अनिवार्य रूप से सडक मार्ग से जोडा जाए। उन्होने कहा राष्टीय गा्रमीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत अधिक से अधिक समूह बनाये जायें, व उन्हे प्रशिक्षण देकर बैंकों से लिंक करायें। उन्होने डिजिटल भारत योजना के अन्तर्गत ग्रामों को इन्टरनैट से जोडने की समीक्षा की। जिस पर जिलाधिकारी व एजीएम दूरसंचार ने अवगत कराया कि जनपद में चार ब्लाक में काम चल रहा है। जिनमे योजना के अन्तर्गत 3जी केबिल लाईन बिछायी जा रही है, दिसम्बर में पूर्ण कर लिया जायेगा। इसके उपरान्त प्रत्येक गांव मे कम्प्यूटर स्थापित किया जायेगा। श्री कोश्यारी ने दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों को दूरसंचार से जोडने के लिए मोबाइल टावर स्थापित करने के निर्देश दिये। उन्होने उज्जवला योजना के अन्तर्गत जिन बीपीएल परिवारो के वास्तव में गैस संयोजन नही है उन्हे चिन्हित कराने के निर्देश भी दिये।

जिलाधिकारी दीपक रावत ने  अवगत कराया कि मनरेगा के अन्तर्गत अब तक 19.44 करोड के कार्य कराये जा चुके है। जिसमें तालाब, शौचालय,जल व भूमि संरक्षण कार्य कराये जा रहे है। उन्होने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत रामगढ ब्लाक खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) हो चुका है। शीघ्र ही भीमताल ब्लाक ओडीएफ होने जा रहा है। श्री रावत ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिेये कि वे बैठक में दिये गये निर्देशों का अनुपान करना सुनिश्चिित करें तथा विकास कार्यो में गति लाकर धनराशि व्यय करना सुनिश्चिित करें। उन्होने कहा कि अधिकारी क्षेत्रो मे जाकर विकास कार्यो का स्थलीय निरीक्षण करें ताकि कार्यो में गुणवत्ता बनी रहेे।

बैठक में विधायक बंधीधर भगत, नगर पालिका अध्यक्ष नैनीताल श्याम नारायण, ब्लाक प्रमुख गीता विष्ट, सहित मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र, अपर जिलाधिकारी आरडी पालीवाल, सिटी मजिस्टेट केके मिश्रा, मुख्य चिकित्साधिकारी एलएम उप्रेती, जिला विकास अधिकारी डा0 महेश कुमार, पूर्ति अधिकारी तेजबल सिह, एआरटीओ गुरूदेव सिह, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी पीसी काण्डपाल,मुख्य कृषि अधिकारी डी कुमार, मुख्य शिक्षा अधिकारी रघुनाथ लाल आर्य, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि एसके गर्ग, रणजीत सिह रावत,एचएस रावत, विद्युत एनके मिश्रा, मो0 उस्मान, सहित सभी अधिकारी उपस्थित थे।