जेडीयू की 2019 की तैयारी : प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी को टक्कर देंगे नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनकी पार्टी जेडीयू ने प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया है. जेडीयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में फैसला लिया गया कि 2019 में प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के सामने नीतीश कुमार चुनौती पेश करेंगे.

बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए पार्टी के महासचिव के.सी. त्यागी ने कहा कि जेडीयू केंद्र की बीजेपी सरकार का विकल्प तैयार करने के लिए काम करेगी और पीएम मोदी के विकल्प के तौर पर नीतीश के नेतृत्व को जेडीयू आगे करेगी.

बैठक में राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन या मोर्चा बनाने के लिए नीतीश कुमार को अधिकृत किया गया है. हालांकि के.सी. त्यागी ने साफ किया कि जेडीयू ने नीतीश को कभी पीएम उम्मीदवार नहीं बताया. जेडीयू ने ऐसा कोई प्रस्ताव भी पारित नहीं किया. लेकिन नीतीश एक बड़े क्षेत्र के जनाधार वाले नेता हैं. नीतीश कुमार में पीएम बनने की सभी योग्यताएं हैं.

राष्ट्रीय परिषद की बैठक में जेडीयू के संविधान संशोधन के लिए भी नीतीश को अधिकृत किया गया है. अब नीतीश कुमार पार्टी संविधान में जरूरी बदलाव कर सकेंगे. त्यागी ने कहा कि जेडीयू का मकसद यूपी और बिहार में बीजेपी सांसदों की संख्या घटाना है. इन दोनों राज्यों में बीजेपी हारी तो केंद्र की सत्ता से दूर हो जाएगी.

जेडीयू ने कहा कि तीन तलाक पर बीजेपी का पॉलिटिकल कार्ड खेल रही है. यूपी चुनाव के लिए खेल खेला जा रहा है. जेडीयू धार्मिक भावनाओं से छेड़छाड़ में विश्वास नहीं रखती है. जेडीयू ने केंद्र की एनडीए सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया. पीएम ने किसानों से किया वायदा पूरा नहीं किया. देश में रोजगार के अवसर कम हुए हैं. जेडीयू का एनडीए से अलग होने का फैसला सही था.

बीजेपी ने देश को सामाजिक तनाव के सामने ला खड़ा कर दिया है. यूनिफॉर्म सिविल कोड के एजेंडे पर बीजेपी काम कर रही. लिंग पर भेदभाव को आधार बनाकर नई चीज थोपी जा रही है. दलित उत्पीड़न की घटनाएं हो रही हैं. वेमुला से लेकर गौ-रक्षकों तक की घटनाएं सबके सामने हैं. घर वापसी, लव जेहाद, मुजफ्फरनगर, कैराना तक का खेल हो रहा है. पीएम मोदी और संघ प्रमुख के बीच भी मतभेद हो गया है. संघ गौ-रक्षकों का बचाव कर रहा है.

बैठक में नीतीश के जेडीयू अध्यक्ष बनने पर निर्विरोध मुहर लग गई है. नीतीश राष्ट्रीय पदाधिकारी और राज्य स्तर की समितियों के गठन के लिए अधिकृत किए गए हैं. इससे पहले पार्टी के महासचिव के.सी. त्यागी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि नीतीश पीएम मैटेरियल हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार में किसी से भी कम प्रतिभा और क्षमता नहीं है.

राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में नीतीश कुमार, शरद यादव, केसी त्यागी, वशिष्ठ नारायण सिंह, पवन वर्मा, अरुण श्रीवास्तव, हरिवंश, ललन सिंह, विजेंद्र यादव, अनिल हेगड़े, जावेद रजा, अली अनवर समेत तमाम पार्टी के पदाधिकारी शामिल हैं.