ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे लाइन पर भूमि अधिग्रहण के लिए ग्रामीणों के साथ हुई जनसुनवाई

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग नई ब्रॉडगेज रेल लाईन प्रोजेक्ट के लिए रुद्रप्रयाग तहसील की पुनाड़, तिलणी, सुमेरपुर तथा रतूड़ा ग्रामों में भूमि अधिग्रहण के लिए सामाजिक समाघात अध्ययन के बाद उप-जिलाधिकारी सदर मुक्ता मिश्र की अध्यक्षता में चित्रकूट धाम सुमेरपुर में जनसुनवाई की गई.

इस मौके पर उप-जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक काश्तकार को जानकारी दे दी जाएगी कि उसकी कितनी भूमि रेलवे प्रोजेक्ट के लिए अधिकृत की जाएगी. उन्होंने गांववासियों से रेलवे प्रोजेक्ट में सहयोग देने को कहा. उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों की सभी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश की जाएगी.

डीजीएम रेलवे पीपी बडोगा ने कहा कि रेलवे लाइन के निर्माण के दौरान मूलभूत सुविधाओं को प्राथमिकता दी जाएगी कि रेलवे लाइन के निर्माण से सुविधाएं प्रभावित न हों. रेलवे बोर्ड द्वारा ग्रामवासियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाएगा. इसके लिए विश्वस्तरीय वैज्ञानिकों द्वारा अध्ययन किया गया है. सभी ब्रिज, टनल का निर्माण कार्य अन्तरराष्ट्रीय मापदण्डों के अनुरूप किया जाएगा. सुरक्षा प्रबन्धन समिति द्वारा सुरक्षा के सभी प्रावधान किए जाएंगे तथा मलवे का निस्तारण वैज्ञानिक तरीके से किया जाएगा.

सुनवाई के दौरान काश्तकारों ने पटटे, नाप भूमि के मुआवजा की दर, कब तथा कितना प्रदान किया जाएगा, ग्रामवासियों को योग्यता के आधार पर रोजगार प्रदान करना आदि समस्याएं रखीं. काश्तकारों ने कहा कि भूमि का सर्वे दोबारा किया जाए. इसके साथ उन्होंने यह भी समस्या रखी कि अन्तराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप जो टनल बनाया जाएगा उस टनल का एक नमूना ग्रामवासियों को दिखाया जाए. इस संबंध मे डीजीएम रेलवे बोर्ड ने कहा कि कश्मीर के बनिहाल पर बनी टनल दिखा दी जाएगी.

काश्तकारों की समस्याओं का उत्तर देते हुए उप-जिलाधिकारी मुक्ता मिश्र ने कहा कि पट्टे की जमीन का मुआवजा नाप भूमि के अनुसार प्रदान किया जाएगा. इसके लिए पट्टा स्वीकृत होना आवश्यक है. उन्होंने यह भी कहा कि जन समूह को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है. उनकी सभी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा. यह प्रथम जन सुनवाई है इसके पश्चात मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में तथा अंत में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जन सुनवाई के पश्चात ही कार्य प्रारम्भ किया जाएगा.

इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल, ग्राम प्रधान सुमेरपुर, लक्ष्मण सिंह रावत, गढवाल विश्व विद्यालय के शोध छात्र मनीष कुमार, तहसीलदार रुद्रप्रयाग एमएल भेतवाल सहित ग्रामीण उपस्थित थे.

– जयपाल सिंह, रुड़की